dehradun@inext.co.in
DEHRADUN: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से दो दिवसीय उत्तराखंड दौरे पर होंगे। इसके लिए शासन प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। सुरक्षा में किस प्रकार की चूक न रहे, इसके लिए सड़क से लेकर हवाई मार्ग तक चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। बताया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी सुबह 8 बजे स्पेशल विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर उतरेंगे। उसके बाद वे हेलीकॉप्टर से केदारनाथ के लिए रवाना होंगे। सूत्रों के अनुसार पीएम सैटरडे को केदारनाथ में ही शंकराचार्य की समाधि स्थल पर ही रात्रि निवास करेंगे। इस दौरान वे केदारनाथ में चल रहे और पूरे हो चुके पुनर्निर्माण कार्यो को भी करीब से देखेंगे। संडे को पीएम नरेंद्र मोदी बद्रीनाथ के लिए रवाना होंगे। बताया जा रहा है कि पीएम के केदारनाथ व बद्रीनाथ दौरे को देखते हुए पहले ही भाजपा नेता वहां पहुंच चुके हैं। लेकिन पीएम के दौरे को देखते हुए कोई भी भाजपा नेता व शीर्ष अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट किले में तब्दील
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय दौरे को देखते हुए जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। एयरपोर्ट के अंदर व बाहर चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा एंजेंसियां मुस्तैद हैं। खुफिया विभाग को पहले ही अलर्ट कर दिया गया है। बकायदा एयरपोर्ट पर पीएम के दौरे को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ करने के लिए पुलिस के अधिकारियों की गोपनीय मीटिंग, ब्रीफिंग के साथ एयरपोर्ट पर रिहर्सल हुई। डीजी अशोक कुमार ने बताया कि पीएम के प्रस्तावित दौरे को देखते हुए सुरक्षा की पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। डोईवाला कोतवाल राकेश सिंह गुसांई ने बताया एयरपोर्ट के आसपास सुरक्षा की दृष्टि से होटलों, रेस्टारेंट व ढ़ाबों में सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।

दून से लेकर केदारनाथ तक मीटिंग्स
पीएम नरेंद्र मोदी के केदारनाथ व ब्रदीनाथ दौरे को देखते हुए फ्राइडे को दून से लेकर केदारनाथ तक तीन मीटिंग्स हुई। पहली मीटिंग डीजी लॉ-एंड-ऑर्डर अशोक कुमार की अध्यक्षता में एसडीआरएफ कैंपस जौलीग्रांट में हुई। जबकि दूसरी गौचर और तीसरी मीटिंग केदारनाथ में आईजी गढ़वाल के नेतृत्व में हुई। जौलीग्रांट में पुलिस अधिकारियों को ब्रीफ करते हुए डीजी अशोक कुमार ने सुरक्षा प्रबंधों की जानकारी देते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि पीएम के पहुंचने के तीन घंटे पहले सभी अधिकारी व कार्मिक अपने ड्यूटी स्थल पर पहुंच जाएंगे। किसी भी संदिग्ध वस्तु के दिखने या मिलने की सूचना आलाधिकारियों को दी जाए। निर्देश दिए गए कि अधिकृत व्यक्तियों व उनके वाहनों को ही अंदर जाने की परमिशन दी जाए। जबकि वीवीआईपी से मिलने वाले लोगों पर भी सुरक्षा की पैनी नजर रहे। ड्यूटी में तैनात कर्मियों को कहा गया है कि ड्यूटी के दौरान मोबाइल का यूज न हो और बिना बताए ड्यूटी प्वाइंट न छोड़ा जाए। लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान एडीजी विजिलेंस विनय कुमार, डीआईजी एनएस नपलच्याल सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।