- गर्मी के बढ़ते प्रकोप से डिहाईड्रेशन का खतरा

- चिलचिलाती धूप से हो सकता है हीट स्ट्रोक

Meerut. बेहिसाब गर्मी व धूप ने लोगों को बेहाल कर दिया है. गर्मी के प्रकोप और लू के थपेड़ों से हीट स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ गया है. जिसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है. हालांकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि अगर थोड़ी सी सावधानी बरती जाए तो हीट स्ट्रोक के खतरे से बचा जा सकता है.

हीट स्ट्रोक के लक्षण

- हीट स्ट्रोक में शरीर का तापमान तेजी से बढ़ता है, अचानक दौरे पड़ने लगते हैं.

-गफलत में मरीज उलटा-सीधा बोलने लगता है, हार्ट बीट भी बढ़ जाती है.

-ब्लड प्रेशर कम हो जाता है, कई मरीजों को सांस लेने में दिक्कत होने लगती है.

गर्मी से ऐसे बचें

-गर्मी में सफर के दौरान चश्मे, हेलमेट और सिर पर कपड़े का प्रयोग करना चाहिए.

-इस मौसम में ढीले और हीट से बचाने वाले हल्के रंग के सूती कपड़े पहनें.

-जहां तक संभव हो तेज धूप में घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए.

-एक लीटर पानी या नींबू पानी के घोल का सेवन करना चाहिए.

-यदि कोई गिर जाए तो उसे उल्टा कर देना चाहिए, जिससे दिमाग में गर्मी ने चढ़ पाए.

-खुले में फल या खाने-पीने की चीजों का सेवन न करें.

- पीने के लिए साफ पानी का ही प्रयोग करें.

तेज गर्मी से डिहाईड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है. हीट स्ट्रोक की स्थिति भी बन सकती है. गर्मी लगातार बढ़ रही है, ऐसे में लोगों से अपील है कि वह अपना ध्यान रखें.

डॉ. राजकुमार, सीएमओ, मेरठ