केसरीनाथ होंगे वेस्ट बंगाल के राज्यपाल!

सिटी के हिस्से में एक और उपलब्धि जुड़ने वाली है. उप्र विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा के वरिष्ठ नेता केसरी नाथ त्रिपाठी वेस्ट बंगाल के अगले राज्यपाल होंगे. केंद्र सरकार ने उनका नाम सेलेक्ट कर राष्ट्रपति के पास स्वीकृ ति के लिए भेजा है. राष्ट्रपति की स्वीकृति के बाद वो इलाहाबाद से तीसरे राज्यपाल होंगे.

- यूपी विधानसभा के छह बार सदस्य हो चुके हैं निर्वाचित

- इलाहाबादियों में छाई खुशी की लहर,अब घोषणा का है इंतजार

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: देश को सात प्रधानमंत्री देने वाले इलाहाबाद के नाम एक और उपलब्धि शामिल होने जा रही है. केंद्र सरकार ने उप्र विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा के कद्दावर नेता केसरी नाथ त्रिपाठी का नाम राज्यपाल पद के लिए सेलेक्ट कर राष्ट्रपति भवन भेजा है. यह तय माना जा रहा है कि केसरी नाथ त्रिपाठी पश्चिम बंगाल के राज्यपाल बनकर शहर का नाम रौशन करेंगे. बहुमुखी प्रतिभा के धनी केसरी नाथ लंबे समय तक उप्र विधानसभा के सदस्य होने के साथ कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं. इस उपलब्धि पर खुशी जाहिर करने वाले इलाहाबादियों को अब राष्ट्रपति द्वारा उनके नाम मुहर लगाए जाने का इंतजार है.

मिला त्याग करने का इनाम

यूपी विधानसभा के तीन बार अध्यक्ष रह चुके केशरी नाथ को भाजपा की ओर से यह इनाम पार्टी के प्रति उनकी कर्तव्यनिष्ठा और ईमानदारी के लिए दिया गया है. बता दें कि ख्0क्ब् लोकसभा चुनाव में इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र से उनका लड़ना तय माना जा रहा था लेकिन अचानक पार्टी ने बांदा के पूर्व सांसद श्यामाचरण गुप्ता को टिकट देकर संभावनाओं पर विराम लगा दिया था. इसको लेकर पार्टी में अंतर्कलह भी मची रही. बावजूद इसके केशरी नाथ ने केवल इलाहाबाद ही नहीं बल्कि फूलपुर संसदीय क्षेत्र के चुनाव प्रचार में पूरी सक्रियता दिखाते हुए प्रत्याशियों की जीत का मार्ग प्रशस्त किया.

छह बार जीता विधानसभा चुनाव

दमदार राजनीतिक करियर के धनी केशरी नाथ के नाम पहले भी कई उपलब्धियां शामिल रही हैं. वर्ष क्977 से ख्007 के बीच वह छह बार शहर दक्षिणी विधानसभा से जीत दर्ज कर उन्होंने अपनी साख का अहसास कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी. यही रीजन रहा कि तीन बार उन्हें यूपी विधानसभा का अध्यक्ष निर्वाचित किया गया. यही नहीं जनता पार्टी की गवर्नमेंट में वह प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर भी रहे हैं. इन्हीं उपलब्धियों के चलते वह हमेशा पार्टी की हिट लिस्ट में शामिल रहे और केंद्र सरकार बनने के बाद उनका नाम राज्यपालों की सूची दर्ज किया जाना निश्चित माना जा रहा था.

करियर में डाउन फॉल भी देखा

हालांकि उनके राजनीतिक करियर में एक समय लंबा डाउन फॉल भी आया. लगातार छह बार विधानसभा चुनाव जीतने के बाद ख्007 में उन्हें इसी सीट से बसपा प्रत्याशी के हाथों पराजित भी होना पड़ा. इसके बाद ख्0क्ख् विधानसभा चुनाव परिणाम में वह खिसककर तीसरे नंबर पर आ गए. इसके बाद हालिया लोकसभा चुनाव में उनकी मजबूत दावेदारी के बावजूद पार्टी ने टिकट नहीं दिया. जिसको लेकर उनका राजनीतिक करियर लड़खड़ाने लगा था. सफल पॉलिटिशन के अलावा वह साहित्य, समाज सेवा, न्याय और शिक्षा के क्षेत्र में सक्रिय रहे हैं.

गर्म रहा चर्चा का बाजार, जाहिर की खुशी

केशरी नाथ के पश्चिम बंगाल के राज्यपाल बनाए जाने की भले ही अधिकारिक घोषणा नही की गई है लेकिन शहर में चर्चा का बाजार गर्म है. सोशल मीडिया से लेकर चाय की दुकानों तक लोग इस मामले में अपनी राय देने सहित खुशियां जाहिर करने से नहीं चूक रहे हैं. लोगों का कहना है कि इलाहाबाद ने पहले ही देश के सात प्रधानमंत्री दिए हैं. साथ ही राजेंद्र कुमारी बाजपेई, अंशुमान सिंह के बाद केशरी नाथ के रूप में एक और राज्यपाल देने जा रहा है. यह वाकई गर्व का विषय है.

जीवन परिचय-

नाम- केशरी नाथ त्रिपाठी

जन्म- क्0 नवंबर क्9फ्ब्

शिक्षा- बीए एलएलबी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी

कार्यक्षेत्र- न्याय, राजनीति, साहित्य सेवा और शिक्षा

क्- न्याय

- इलाहाबाद हाईकोर्ट में क्9भ्म् से एडवोकेट.

- हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के वर्ष क्9म्भ् में संयुक्त सचिव पुस्तकालय और वर्ष क्987 से क्989 के बीच अध्यक्ष. वर्ष क्989 में हाईकोर्ट द्वारा सीनियर एडवोकेट निर्दिष्ट.

ख्- राजनीति

- छात्र जीवन में वर्ष क्9भ्फ् में कश्मीर आंदोलन में जेल यात्रा.

- क्977 से ख्007 के बीच छह बार यूपी विधानसभा सदस्य निर्वाचित.

- यूपी मंत्रिमंडल में चार जुलाई क्977 से क्क् दिसंबर क्979 तक संस्थागत वित्त एवं बिक्री कर मंत्री.

- क्99क्, क्997, ख्00ख् में तीन बार यूपी विधानसभा अध्यक्ष निर्वाचित.

- कामनवेल्थ पार्लियामंट एसोसिएशन की यूपी शाखा के वर्ष क्99क् से ख्007 तक दो बार अध्यक्ष.

- दल बदल कानून पर ऐतिहासिक निर्णय लिया.

- भाजपा जनता पार्टी की अखिल भारतीय कार्य समिति के सदस्य रहे.

- यूपी हिंदी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष रहे.

- भाजपा के ख्00ख् से ख्007 तक प्रदेश अध्यक्ष.

सम्मान-

- उत्तर प्रदेश रत्‍‌न, विश्व भारती सम्मान, अभिषेक श्री, भारत गौरव सम्मान.

साहित्य

- यूनाइटेड किंगडम हिंदी समिति, गीतांजलि बर्मिघम व अहिंसम भारतीय मैनचेस्टर द्वारा आयोजित कवि सम्मेलनों में अध्यक्ष व मुख्य अतिथि.

प्रकाशित पुस्तकें

- दि रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपुल एक्ट क्9भ्क् पर अंग्रेजी में किताब.

- मनोनुकृति काव्य संग्रह.

- आयु पंख काव्य संग्रह.