- दीक्षांत समारोह स्थल पर दिन-रात लगातार चल रहा कार्य - वाटरप्रूफ पांडाल के साथ ठंड से बचने के उपकरण लगाए आगरा. डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय में पांच दिसंबर को दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जा रहा है. इस बार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल भी शिरकत करने आ रहे हैं. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कर्मचारी और अधिकारी लगातार स्थिति का जायजा ले रहे हैं. शहर को नया कलेवर दिया जा रहा है. खास तौर से खंदारी कैंपस का कायाकल्प हो रहा है. कई आधुनिक सुविधा और संसाधनों की यहां व्यवस्था की जा रही है. ताकि मिस्टर प्रेसीडेंट को कोई तकलीफ न हो. पहली बार वाटर प्रूफ पांडाल विश्वविद्यालय के खंदारी कैम्पस में पांच दिसंबर को प्रस्तावित दीक्षांत समारोह में सफाई व्यवस्था के दुरुस्त की जा रही है. कर्मचारी और अधिक ारी दिन रात कार्य में व्यस्त हैं. जिससे अव्यवथाओं को दुरुस्त किया जा सके. परिसर में विद्युत लाइन को बदलने का कार्य तेजी से किया जा रहा है. पहली बार वाटर प्रूफ पांडाल बनाया गया है. इसमें 1200 लोग एक साथ बैठ सकेंगे. पांडाल में ठंड से बचने के लिए उपकरण और डिजीटल डिस्प्ले की व्यवस्था की गई है. इससे इवेंट का लाइव टेलीकास्ट हो सके. सुरक्षा के लिहाज से काटे पेड़ खंदारी कैंपस में बुधवार को घने पेड़ों की कटिंग की गई. इससे सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया जा सके. साथ ही पिछले कई दिन से चल रहा खुदाई कार्य शीघ्र ही बंद कर चल रहे कार्य को पूरा किया जाएगा. परिसर में कर्मचारी इसका जायजा लेकर अधिकारियों को स्थिति की जानकारी दे रहे हैं. हैंडमेड मूर्तियों ने बढ़ाया आकर्षण विवि में एक महीने पर्व पत्थर की मुर्तियों को बनाने का कार्य किया गया था. इसके लिए बाहर से कलाकरों को बुलाया गया था. तैयार मुर्तियों को कार्यक्रम स्थल पर लगाया है, इससे दीक्षांत समारोह की सुंदरता में चार चांद लग गए हैं.