kanpur@inext.co.in

KANPUR: हैलट में सोमवार को कार सवार बदमाशों ने सरेशाम मां के सामने तीन साल के बच्चे को अगवा कर लिया. वह मां के साथ पिछले पंद्रह दिन से हैलट परिसर में रह रहा था. वह परिसर में ही खेल रहा था कि तभी कार सवार बदमाश उसको अगवा कर भाग गए. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल की, लेकिन देर शाम तक बच्चे का कुछ पता नहीं चल सका.

कानपुर देहात के नबीपुर निवासी गुजवा की पत्नी अनीता का हैलट में इलाज चल रहा है. वह पिछले दिनों हादसे में घायल हो गई थी. डॉक्‍टरों ने पैर का आपरेशन करने के बाद अनीता को 15 दिन बाद दिखाने के लिए बोला था. अनीता बेहद गरीब है. इसलिए वह वापस गांव जाने के बजाय हैलट परिसर में नीम के पेड़ के नीचे रह रही थी. उसके दो बेटे मेंहदी और अक्षय भी साथ रुके हुए थे.

बेटे का मुंह दबाकर कार में डाल लिया

सोमवार को अनीता का पति बेटे मेंहदी के साथ कुछ काम से गया था, जबकि अनीता छोटे बेटे अक्षय के साथ पेड़ के नीचे बैठी थी. आरोप है कि शाम को उसका बेटा वहां खेल रहा था कि तभी कार से कुछ लोग आए और बेटे का मुंह दबाकर उसको कार में डालकर ले गए. पैर का आपरेशन होने से अनीता उनका पीछा नहीं कर पाई. उसने शोर मचाया, लेकिन इससे पहले वे कार से उसको लेकर भाग गए. इंस्पेक्‍टर राजीव सिंह का कहना है कि पीडि़ता ने बेटे को अगवा किए जाने का आरोप लगाया है. पुलिस जांच कर रही हैं. उसका पति अभी नहीं आया है. हो सकता है कि बेटा उसके साथ हो.

Crime News inextlive from Crime News Desk