छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: लौहनगरी के लोगों को अब किडनी और बोनमैरो ट्रांसप्लांट के लिए कोलकाता, वेल्लोर या मुंबई जाने की बिल्कुल जरूरत नहीं है. टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) में इसी महीने से किडनी और बोनमैरो ट्रांसप्लांट की सुविधा मिलने लगेगी. टीएमएच हॉस्पिटल मैनेजममेंट ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है. टीएमएच के न्यू बिल्डिंग में इसके लिए नया ऑपरेशन थियेटर और आब्जर्वेशन वार्ड तैयार किया गया है. इतना ही नहीं नई दिल्ली, जयपुर, कोलकाता से बोनमैरो के छह विशेषज्ञ डॉक्टर भी टीएमएच में ज्वाइन कर चुके हैं. हॉस्पिटल मैनेंजमेंट का कहना है कि मूलभूत सुविधाएं तैयार हैं. ट्रेंड नर्सिग स्टॉफ और पैथोलाजी के कर्मचारियों को विभाग में प्रतिनियुक्त किया जा चुका है. पेशेंट के एडमिट होते ही ट्रीटमेंट शुरू हो जाएगा.

एजेंसियों से हुआ है एमओयू

अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि टीएमएच में नई सुविधाएं शुरू होने के बाद किसी भी मरीज को बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. उन्हें यहीं विश्वस्तरीय सुविधाएं मिलेंगी. हॉस्पिटल मैनेजमेंट से मिली जानकारी के मुताबिक बोनमेरो के लिए टीएमएच ने कोलकाता और नई दिल्ली की दो एजेंसियों से एमओयू किया है. संबधित मरीज के ट्रांसप्लांट के लिए वे एजेंसी से संपर्क करने पर उन्हें ब्लड की तरह बोनमैरो की भी सुविधा मिलेगी.

देनी होगी कानूनी रजामंदी

प्रबंधन का कहना है कि किडनी ट्रांसप्लांट के लिए कानूनी प्रक्रिया को अपनाना जरूरी है. परिवार के सदस्य ही किसी मरीज को अपनी किडनी दे सकते हैं. किडनी डोनेट करने से पहले उन्हें इसके लिए कानूनी रजामंदी देनी होगी.

टीएमएच में किडनी व बोनमैरो ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन कभी भी शुरू हो सकता है. इसके लिए हमने अपनी तैयारी पूरी कर ली है बस हमें अब मरीज का इंतजार है.

-डॉ. राजन चौधरी, जीएम (मेडिकल सर्विसेज), टीएमएच