वेस्‍टइंडीज दौरे का है मामला
किस्सा टीम इंडिया के इस साल के वेस्टइंडीज दौरे का है। जब पांड्या को कीरॉन पोलार्ड की दोस्ती भारी पड़ गई और वो पुलिस के हत्थे चढ़ने से बच गए। मगर ये हकीकत नहीं, बल्कि पोलार्ड ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर जो प्रैंक किया था, उसका हिस्सा है। पांड्या ने एक चैट शो में इसका राज खोला। इसकी हकीकत जानकर आप भी अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे। दरअसल पांड्या और पोलार्ड ऑलराउंडर हैं। दोनों ही आईपीएल में मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलते हैं। ऐसे में दोनों के बीच अच्छी दोस्ती है। मुंबई इंडियस की साल 2015 और 2017 की खिताबी जीत में दोनों ने अहम रोल निभाया था।

ये अलग बात है कि पोलार्ड मुंबई इंडियंस टीम के साथ 2010 से जुड़े हैं और पांड्या को भी इस टीम से जुड़े दो साल ही हुए हैं। मगर इन दो सालों के भीतर ही दोनों में दोस्ती कम, भाईयों जैसा रिश्ता ज्यादा है। यही वजह है कि पांड्या पोलार्ड को मजाक में Brother From Another Mother भी कहते हैं।
वेस्‍टइंडीज में जेल जाते-जाते बचे थे हार्दिक पांड्या,अब खुला मामला
2017 के वेस्टइंडीज दौरे का वाकया
पांड्या ने एक चैट शो में इस वाकये का जिक्र किया कि कैसे पोलार्ड ने एक पुलिसवाले के साथ मिलकर उन्हें फंसाने की कोशिश की। मगर पुलिस वाले की एक गलती से पोलार्ड का भंडाफोड़ हो गया और वो इस प्रैंक को समझ गए।टीम इंडिया इसी साल वेस्टइंडीज दौरे पर गई थी। जहां पांड्या भी टीम के साथ थे। मैच के अलावा जब भी पांड्या को खाली वक्त मिलता तो वो पोलार्ड के साथ घूमने निकल जाते।पांड्या ने इस चैट शो में बताया कि उन्हें पोलार्ड पर विश्वास था कि अगर वो वेस्टइंडीज में उनके साथ घूम रहे हैं तो कोई परेशानी नहीं होगी। मगर ऐसा कुछ नहीं हुआ, उल्टा पांड्या आफत में फंस गए। क्योंकि पोलार्ड के साथ घूमते वक्त एक पुलिस वाले ने उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की।

कोहली ने पूरे किए 5000 टेस्‍ट रन, सबसे तेज रन बनाने वाले तो ये 5 बल्‍लेबाज हैं

चैट शो में पांड्या ने खोला प्रैंक का राज
पांड्या ने इस चैट शो में एंकर गौरव कपूर को बताया कि- "मुझे शुरू से ही ये पता था कि ये एक प्रैंक है। मगर फिर भी बीच में एक बार स्थिति बिगड़ गई। इसके बावजूद मैंने अपना आपा नहीं खोया और इस मुसीबत से बाहर निकलने के लिए टीम इंडिया के अपने साथियों को बुलाने की कोशिश की।" मेरा शक तब और पक्का हो गया, जब उस पुलिस वाले को मैंने किसी को फोन लगाते देखा। जिस वक्त ये पुलिस वाला फोन लगा रखा था। उस वक्त फोन का स्पीकर वाला हिस्सा नीचे था। बस फिर क्या था पोलार्ड के इस प्रैंक का राज खुल गया।"
वेस्‍टइंडीज में जेल जाते-जाते बचे थे हार्दिक पांड्या,अब खुला मामला
इसके बाद पोलार्ड ने मुझसे पूछा कि- “इतना सब होने के बाद भी तुम शांत कैसे थे तो मैंने पोलार्ड को कहा कि जब तक तुम मेरे साथ हो, तब तक मुझे किस बात का डर। बेखौफ तुम्हारे शहर में घूम सकता हूं।इस वक्त पांड्या श्रीलंका के खिलाफ होने वाले तीन मैचों की वनडे और इतने ही मैचों की T-20 सीरीज के लिए तैयारी कर रहे हैं।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk