क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : नामकुम थाना क्षेत्र के सपारोम गांव से सड़क निर्माण करा रहे संतोष कंस्ट्रक्शन के मुंशी आकाश उरांव (21) को नामकुम थाना पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया. पुलिस गुरूवार को आकाश उरांव से पूछताछ की. गौरतलब हो कि आकाश उरांव का अपहरण मंगलवार को चार नकाबपोश अपराधियों ने हथियार के बल पर उस वक्त कर लिया था जब वे ड्यूटी पूरी करने के बाद अपने घर कांके लौट रहे थे. आकाश के पिता पिता प्रोजेक्ट भवन, रांची में खेलकूद विभाग में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी हैं. आकाश ने भुवनेश्वर से बीटेक किया है. तीन महीने पहले कंस्ट्रकशन कंपनी में मुंशी की नौकरी मिली थी.

दोस्त के साथ लौट रहा था घर

मंगलवार शाम आकाश और पिस्कामोड़ में रहनेवाले उसके सहयोगी यशवंत सिंह स्कूटी से अपने घर लौट रहे थे. इसी दौरान सुनसान जगह पर चार अपराधी वहां आ धमके और हथियार का भय दिखाकर दोनों को अपने कब्जे में कर लिया. थोड़ा हिम्मत दिखाते हुए यशवंत एक अपराधी से भिड़े और किसी तरह वहां से भाग निकले और मदद के लिए आवाज लगाई. उनकी आवाज सुन कर ग्रामीण को आता देख चारों अपराधी वहां से आकाश को लेकर भाग गए.

परिजनों को कॉल कर मांगी थी 12 लाख रंगदारी

अपराधियों ने आकाश को अगवा करने के बाद उसके ही मोबाइल से परिजनों को फोन कर 12 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी. कुंदन पाहन के दस्ते का सदस्य बताकर अपहर्ता हर आधे घंटे में अपराधी लेवी की मांग कर रहे थे. वे दशम फॉल के करीब स्थित एक पुल के पास लेवी की राशि लाने को कहा था.