prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: जूना अखाड़ा के साथ विलय के बाद अब किन्नर अखाड़ा के संत शाही स्नान में भी शामिल होंगे. किन्नर अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने बताया कि जूना अखाड़ा के साथ ही किन्नर अखाड़ा के सभी संत शाही स्नान में शामिल होंगे. जूना अखाड़ा के साथ किन्नर अखाड़ा के संत भी अपने वाहनों पर सवार होकर शिरकत करेंगे. जूना अखाड़ा के साथ विलय की बात पर चर्चा करते हुए महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने बताया कि जूना अखाड़ा के संतों पर किन्नर अखाड़ा की बात मानते हुए अखाड़ा शब्द को स्वीकार करते हुए उन्हें अपनाया. ऐसे में किन्नर अखाड़ा के संत जूना अखाड़ा के संतों के पुरुषार्थ को प्रणाम करते हैं.

 

परम्परा निभाएगा किन्नर अखाड़ा
जूना अखाड़ा के साथ विलय के बाद भी किन्नर अखाड़ा के संत अपनी परम्परा भी निभाएंगे. शाही स्नान के साथ ही सभी स्नान पर्व पर किन्नर अखाड़ा के संत त्रिकाल संध्या स्नान भी करेंगे. आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने बताया कि सभी स्नान पर्व पर किन्नर अखाड़ा के संत संध्या काल में त्रिकाल संध्या स्नान करेंगे. इस अवसर पर किन्नर के साथ ही महिलाएं भी शामिल होंगी.