1 जुलाई से शुरू हो सकेगी आधार की नई सुविधाएं
आधार कार्ड की सिक्योरिटी को अब और भी मजबूत किया जा रहा है। अभी तक आधार सत्यापन के लिए फिंगरप्रिंट और आंख की पुतलियों को आधार बनाया गया था। अब सिक्योरिटी फीचर्स में चेहरे को भी पहचान के रूप में शामिल किया गया है। सुरक्षा का यह नया फीचर इसी साल 1 जुलाई से शुरू किया जाएगा। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने सोमवार को नोटिफिकेशन जारी करते हुए इसकी जानकारी दी है। गौरतलब है कि अब तक देश के 119 करोड़ लोगों को आधार नंबर (बायोमेट्रिक आईडी) जारी किए जा चुके हैं।
फिंगरप्रिंट और आईरिश सहित दो और चीजों से होगा आधार ऑथेंटिकेशन,कोई मांगें तो आधार नंबर नहीं दें वर्चुअल आईडी

इस टोल फ्री नंबर पर कॉल करें, घर बैठे आधार से जुड़ जाएगा आपका मोबाइल नंबर

अब फेस ऑथेन्टिकेशन, ली जाएगी चेहरे की तस्‍वीर
यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडे ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि यूआईडीएआई लोगों की पहचान के लिए एक और टेक्नोलॉजी ला रहा है- फेस ऑथेन्टिकेशन। इस फीचर से बूढ़ों और उन सब लोगों को मदद मिलेगी, जिन्हें फिंगरप्रिंट से ऑथेन्टिकेशन में दिक्कत आती है। यूआईडीएआई ने कहा कि अब आधार एनरोलमेंट के लिए लोगों के चेहरे की फोटो भी ली जाएगी।
फिंगरप्रिंट और आईरिश सहित दो और चीजों से होगा आधार ऑथेंटिकेशन,कोई मांगें तो आधार नंबर नहीं दें वर्चुअल आईडी

आधार है तो ये सारे काम हो जाएंगे घर बैठे नहीं तो लगाते रहिए चक्‍कर पे चक्‍कर

घिसे फिंगरप्रिंट से ऑथेन्टिकेशन में आ रही दिक्‍कत
अभी तक आधार में एनरोल होने के लिए लोगों के आईरिस और फिंगरप्रिंट स्कैन ही लिए जाते हैं। लेकिन कई लोगों को आंखों की परेशानी या घिसे हुए हाथों की परेशानी के कारण ऑथेन्टिकेशन में दिक्कत आती थी। हालांकि, ये फीचर किसी दूसरे ऑथेन्टिकेशन फीचर (आइरिस, फिंगरप्रिट स्कैन या ओटीपी) के साथ ही इस्तेमाल किया जाएगा।
फिंगरप्रिंट और आईरिश सहित दो और चीजों से होगा आधार ऑथेंटिकेशन,कोई मांगें तो आधार नंबर नहीं दें वर्चुअल आईडी

बुजुर्गों को कैसे मिले आधार! घिसे फिंगरप्रिंट नहीं ले रही मशीन

अब आधार नंबर नहीं वर्चुअल आईडी दीजिए
- आधार होल्डर 12 डिजिट के नंबर की जगह वर्चुअल आईडी से वेरिफिकेशन करा सकते हैं। केवाईसी की प्रॉसेस आधार जैसी ही होगी।
- 1 जून, 2018 से सभी एजेंसियों के लिए जरूरी होगा कि वे वर्चुअल आईडी से भी यूजर्स का वेरिफिकेशन करें।
-  इससे बिना आधार नंबर शेयर किए ही वेरिफिकेशन प्रॉसेस पूरी हो जाएगी। इससे एजेंसियां के पास आधार डेटा का स्टोरेज कम होगा।
- वर्चुअल आईडी कंप्यूटर से बना 16 डिजिट का नंबर होगा, जो जरूरत पडऩे पर तत्काल जारी किया जाएगा। इसे 1 मार्च से जनरेट किया जा सकेगा।
फिंगरप्रिंट और आईरिश सहित दो और चीजों से होगा आधार ऑथेंटिकेशन,कोई मांगें तो आधार नंबर नहीं दें वर्चुअल आईडी

सिक्‍योर और सेफ : 1 जून से आधार नंबर नहीं वर्चुअल आईडी देनी होगी

Business News inextlive from Business News Desk