1- मिलीभगत से घपला
भारत का बैंकिंग सेक्‍टर पहले से ही एनपीए संकट से जूझ रहा है। ऐसे में इस घोटाले का असर कुछ और बैंकों पर भी पड़ सकता है। पंजाब नेशनल बैंक ने माना है कि कुछ खाताधारकों को अनुचित लाभ पहुंचाने के लिए मिलीभगत है जिसमें उसके कर्मचारी भी शामिल हो सकते हैं। आशंका है कि इन खाताधारकों को अन्‍य बैंकों ने भी पैसे दिए हैं।

2- पीएनबी की शिकायत पर मामला दर्ज
पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत पर सीबीआई ने आभूषण व्‍यवसायी नीरव मोदी सहित कई लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। बैंक का आरोप है कि इन्‍होंने साजिशन बैंक के साथ धोखाधड़ी की है। शिकायत में नीरव के भाई निशाल और उनकी पत्‍नी एमी का नाम भी शामिल है।

3- मंत्रालय ने और बैंकों से भी मांगी रिपोर्ट
वित्‍त मंत्रालय ने 11 हजार करोड़ रुपये के घोटाले की बात को खारिज कर दिया है। मंत्रालय का कहना है कि हालात काबू में हैं और उचित कार्रवाई की जा रही है। साथ ही मंत्रालय ने अन्‍य बैंकों से भी इस तरह की घटनाओं या इससे जुड़े मामलों की रिपोर्ट सप्‍ताह के अंत तक देने को कहा है।

4- धोखाधड़ी में चार आभूषण कंपनियां
गीतांजलि, नक्षत्र, गिन्‍नी और नीरव मोदी की आभूषण कंपनी को इस मामले से जोड़ कर देखा जा रहा है। इन्‍हीं कंपनियों ने बैंक कर्मचारियों से मिलीभगत करके बैंक से पैसे लिए और धोखाधड़ी की। इन कंपनियों के अंतिम उपयोग की जांच की जा रही है।

5- सीबीआई कर रही छापेमारी
सीबीआई ने इस मामले में कइयों के घर पर छापेमारी की कार्रवाई की है। इसमें नीरव मोदी, उनके भाई निशाल, पत्‍नी एमी और उनके कारोबारी सहयोगी मेहुल चीनूभाई चौकसी का आवास शामिल है। छापेमारी की कार्रवाई में बैंक के दो अधिकारियों के आवास भी शामिल है।

Business News inextlive from Business News Desk