इमरान के जिक्र से सारा परिवार है खुश
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वेंबले में अपने संबोधन के दौरान अलवर के इमरान खान की उपलब्धिं‍ का जिक्र क्रिए जाने के बाद इमरान और उनका परिवार गदगद है। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में बताया था कि अलवर के इमरान ने अपने भाई की किताबों की मदद से 42 ऐप्स और 100 से ज्यादा वेबसाइट्स बना दी हैं। इसके बाद इमरान ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा मेरे छोटे से योगदान का जिक्र करना मेरे लिए बड़ी उपलब्धिन है। दरअसल अलवर के संस्कृत सीनियर सेकंडरी स्कूल में गणित के शिक्षक इमरान ने तीन साल में 42 से ज्यादा ऐप्स और 100 से ज्यादा वेबसाइट्स बना दी हैं। खास बात यह है कि इमरान ने यह कारनाम सिर्फ किताबों और गूगल की मदद से किया है।

अब तक 25 लाख लोगों ने की है उनकी ऐप्स डाउनलोड
इमरान की ऐप्स को अब तक 25 लाख से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। इमरान ने अलवर जिले के 1300 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों की सूचना के लिए एक पोर्टल भी बनाया है। उल्लेखनीय है कि गत सात नवंबर को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से आयोजित स्कूलों में सूचना एवं प्रौद्योगिकी के राष्ट्रीय सम्मेलन में इमरान के बनाए ऐप्स को राष्ट्र को समर्पित किया गया। इस मौके पर इमरान के 52 शैक्षिक ऐप्स का लोकार्पण किया गया।

inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk