ब्‍लडप्रेशर में आराम:
दोनों भौहों के बीच एक आज्ञाकारी चक्र होता है। यह शरीर में ऊर्जा का संचार करता है, और ब्‍लडप्रेशर पर भी कंट्रोल रखता है। जिससे इस जगह बिंदी लगाने से यह बड़ा लाभ है।

सिरदर्द में राहत:
कहते हैं माथे पर जिस स्‍थान पर बिंदी लगती है उस जगह पर हल्‍का से एक्‍यूप्रेशर करने से सिर दर्द खत्‍म हो जाता है। जिससे जो लोग रोज बिंदी लगाते हैं उन्‍हें सिर दर्द कम होता है।

सुनने की क्षमता तेज:
चेहरे की कुछ नसें कान के अंदर की मसल्‍स को मजबूत करती हैं। ऐसे में माथे पर बिंदी लगने से कुछ नसों में एक्‍यूप्रेसर होता है और आपके सुनने की क्षमता में इजाफा होता है।

भरपूर नींद आती:

बिंदी लगाने से शरीर का ऊपरी हिस्‍सा काफी शांत रहता है। यह कुछ खास मसल्‍सों पर मसाज का काम करती है। जिससे अनिद्रा से राहत मिलती है और नींद अच्‍छी आती है।

एकाग्रता बढ़ती जाती:

माना जाता है कि माथे पर शरीर का सबसे प्रभावशाली एक चक्र होता है। जिससे इस जगह पर लगने वाली बिंदी से मन जल्‍दी भटकता नहीं है। मन एकाग्रचित होता है।

झुर्रियां कम आती:

जब भी आपको लगे कि आपके चेहरे पर झुर्रियां तो बस आप बिंदी लगाना शुरू कर दें। झुर्रियां होने का सिलसिला थोड़ा धीरे हो जाएगा। लाल-पीले चंदन की बिंदी भी फायदेमंद होती है।