features@inext.co.in
KANPUR : जब आप फिल्म देखते हैं तो उसके शुरू और बाद में उस फिल्म से जुड़े लोगों के नाम अंग्रेजी में आते हैं लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने हाल ही में एक दिशानिर्देश जारी किया है जिसके तहत फिल्मों में हिंदी में क्रेडिट देना कंपलसरी होगा। मंत्रायल की तरफ से जारी किए गए लेटर में कहा गया है कि हिंदी फिल्मों में हिंदी में ही क्रेडिट होने चाहिए।

इस वजह से क्रेडिट होगें हिंदी में
सूचना और प्रसारण मंत्रालय के इस फैसले से उन लोंगों को फायदा पहुंचेगा जो अंग्रेजी नहीं जानते और इस वजह से उन्हें पता नहीं चल पाता था कि इस फिल्म के साथ कौन-कौन लोग जुड़े हैं। लेटर में कहा गया है कि फिल्म में क्रेडिट रोल या तो हिंदी में हो या हिंदी और अंग्रेजी दोनों में। लेकिन हिंदी को प्रायोरिटी दी जाए। एक महीने के अंदर इस तरह का आदेश प्रभावी हो जाएगा। बॉलीवुड के लोगों ने भी माना है कि जब चीन, कोरिया और फ्रांस जैसे देश उनकी भाषा में क्रेडिट देते हैं तो हमारे यहां ये क्यों नहीं होता।

प्रोड्यूसर्स पर एक्स्ट्रा बोझ
हालांकि ये बात भी सही है कि लोग फिल्म देखने आते हैं उनके क्रेडिट्स नहीं। सीबीएफसी के एक्स-चेयरमैन पहलाज निहलानी के मुताबिक इस फैसले से प्रोड्यूसर्स पर एक्स्ट्रा बोझ बढ़ेगा। लोगों का ये भी कहना है कि फिल्म जब खत्म हो जाती है उससे पहले ही लोग थिएटर्स में अपनी सीट से उठ कर बाहर जाने लगते हैं ऐसे में उन्हें क्या फर्क पड़ेगा कि क्रेडिट हिंदी में है या अंग्रेजी में।

हाई ग्रेड कैंसर से जूझ रही सोनाली बेंद्रें न्यूयॉर्क में करा रहीं ट्रीटमेंट, अब है ऐसी हालत

'गले में एक बोर्ड टांग लूं, जिसपर लिखा हो, मैं कुछ दिन में मरने वाला हूं' : इरफान खान

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk