कोकरा-जतराटांड-सुंदर विहार जाने वाली सड़क में जल निकासी की नहीं है कोई व्यवस्था

-बारिश में निचले इलाके में डूब जाते हैं घर, सड़कों पर बहता है नाली का पानी

क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : मॉनसून दस्तक देने को तैयार है. इस बारिश कोकर से जतराटांड होते हुए सुंदर विहार जाने वाले इलाके में तबाही तय है. थोड़ी सी बारिश में इस इलाके की नारकीय स्थिति हो जाती है. ऐसे में अगर बारिश ने कहर ढाया तो सुंदर विहार इलाके को डूबने से कोई बचा नहीं सकता है. पिछले दो सालों से इस इलाके का हाल यह है कि बारिश में यहां के लोग घरों में कैद हो जाते हैं. इस बारिश भी लोगों को कुछ ऐसे ही हालात का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि यहां जल निकासी की कोई बेहतर व्यवस्था नहीं है.

जल निकासी की व्यवस्था नहीं

कोकर-जतराटाड-सुंदर विहार जाने वाले रोड में जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है. यहां अस्थायी नाली है, जिसमें घरों का पानी बहाया जाता है, लेकिन मुहल्ले में ही यह ब्लॉक कर जाती है. इतना ही नहीं, सप्लाई वाटर का पाइप भी इसी कच्ची नाली से होकर गुजरा है. ऐसे में बारिश के मौसम में सड़कों पर नाली का पानी बहता है और निचले इलाकों के घर जलमग्न हो जाते हैं.

पार्षद-अफसर को मतलब नहीं

सुंदर विहार के लोग बारिश के मौसम में किस हालात में रहते हैं, इससे नगर निगम के अधिकारियों को न तो मतलब है और न ही स्थानीय पार्षद को. लोग मोहल्ले में नाली और रोड बनाने के लिए निगम व पार्षद से कई बार गुहार लगा चुके हैं, लेकिन सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला है. यह सिलसिला पिछले दो सालों से चला आ रहा है. ऐसे में इस बारिश भी इस मुहल्ले के निचले इलाकों का जलमग्न होना तय है.

दो सालों से यहीं सुनते आ रहे है कि यहां नाली बनाई जा रही है, लेकिन आजतक न तो नाली बनी और न ही इसका काम शुरू हो पाया. अब बरसात आने को है तो घरों में पानी घुसने का डर सताने लगा है. पार्षद और अधिकारियों को क्या है वे तो अच्छे घरों में रहते है. उन्हें हमारी परेशानी कहां से समझ में आएगी.

वार्ड-8 की पार्षद संगीता देवी से सीधी बात

सवाल : जतराटांड़ से सुंदर विहार जाने वाली जर्जर सड़क की मरम्मत क्यों नहीं हो रही है?

जवाब : इसके लिए योजना पास हो गई है. जल्दी ही फंड आ जाएगा. इसके बाद रोड निर्माण का काम शुरू कर दिया जाएगा.

सवाल : क्या इस साल बारिश में लोगों को पानी जमाव की समस्या से छुटकारा मिल पाएगा?

-जवाब : फंड आएगा और फिर काम शुरू होगा तो इसमें समय लग जाएगा. ऐसे में कुछ दिन लोगों को और परेशानी हो सकती है. दुर्गा पूजा तक सभी काम हो पूरे हो जाएंगे.