JAMSHEDPUR: कोल्हान यूनिवर्सिटी (केयू) का चौथे कॉन्वोकेशन में 38 स्टूडेंट्स को गोल्ड मेडल प्रदान किया गया, जिनमें लड़कियों की संख्या 31 रही। समारोह में छात्राओं का दबदबा रहा। मंगलवार को टाटा कॉलेज चाईबासा के मल्टी पर्पस बिल्डिंग में आयोजित प्रोग्राम में चीफ गेस्ट के रूप में चांसलर सह झारखंड की गवर्नर द्रोपदी मुर्मू मौजूद थीं। समारोह में 2400 से ज्यादा विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान करते हुए राज्यपाल सह झारखंड राज्य के विश्वविद्यालयों की कुलाधिपति द्रोपदी मुर्मू ने अपना स्नेह और आशीर्वाद दिया। समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि दक्षता एवं प्रतिभा के बलबूते कोल्हान यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स अपनी पहचान बनाएं और विश्वविद्यालय विद्यार्थियों को नैतिकवान व चरित्रवान बनाने में मदद करें।

वीसी ने किया स्वागत

इससे पहले कुलाधिपति का स्वागत कोल्हान विवि की कुलपति प्रोफेसर डॉ। शुक्ला मोहंती ने पारंपरिक अंग वस्त्र व गुलदस्ता भेंटकर किया। इसके बाद विवि के कुलगीत और राष्ट्रगान के साथ दीक्षा समारोह का शुभारंभ किया गया। अंत में कुलाधिपति ने वर्ष 2017 के विभिन्न संकायों के गोल्ड मेडलिस्ट को उपाधि प्रदान कर अपना आशीर्वचन दिया। इस दीक्षा समारोह में 17334 विद्यार्थियों को डिग्री प्रदान करने की अनुमति दी गई। कार्यक्रम का संचालन कुलसचिव डॉ एसएन सिंह व धन्यवाद ज्ञापन प्रोवीसी डॉ रणजीत कुमार सिंह उपस्थित थे। इस मौके पर विश्वविद्यालय के सभी अधिकारी, विभिन्न कॉलेज के प्रिंसिपल, सिंडिकेट, सीनेट सदस्य व छात्र नेता उपस्थित थे।

5 करोड़ की बिल्डिंग का उद्घाटन

दीक्षा समारोह से पहले राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने टाटा कॉलेज चाईबासा के बहुद्देशीय भवन का उदघाटन किया। इस भवन की कुल लागत 7.5 करोड़ रुपये है। बाद में इस भवन को पूर्ण रूप से वातानुकूलित किए जाने की योजना है।

जांच के बाद मिली इंट्री

कॉन्वोकेशन को लेकर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किए गए थे, सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपी चंदन झा ने संभाल रखी थी। ऑडिटोरियम के बाहर इंट्री प्वाइंट पर मेटल डिटेक्टर से पुलिस के जवानों ने विद्यार्थियों की एक-एक कर तलाशी ली। उसके बाद वे ऑडिटोरियम में दाखिल हुए।