CHAIBASA: कोल्हान यूनिवर्सिटी (केयू) की वीसी डॉ शुक्ला मोहंती ने 10वें स्थापना दिवस समारोह में कहा कि हम लगातार बेहतर करने का प्रयास कर रहे हैं. जिससे कोल्हान विश्वविद्यालय से पढ़कर निकलने वाले छात्र च्च्च स्तर का हो. नए-नए कोर्स शुरु किए जा रऐ हैं जिसमेंच्बच्चों की संख्या लगातार बढ़ रही है. खेल में असीम संभावनाएं दिख रही हैं इसलिए इसी सत्र से हर कॉलेज में स्पोर्टस की सुविधा शुरु की जाएंगी जिससेच्बच्चों को खेल से अपना करियर बनाने में आसानी हो. एचआरडी विभाग से केयू को पैसा आया है. जल्द ही हर कॉलेज को 20 से 22 लाख रुपये फंड दिया जायेगा. हर कॉलेज मेंच्अच्छी लाईब्रेरी खोलने की भी योजना बनाई गई है. वीसी ने का कि कुछच्बच्चे विश्वविद्यालय के गेट पर स्थापना दिवस जैसे महत्वपूर्ण दिवस में विरोध कर रहे हैं. यह वक्त सही नहीं है क्योंकि आज खुशी मनाने का दिन है. कॉलेजों में समस्या है, उनका समाधान भी लगातार किया जा रहा है. बैठक में प्राचार्य हमेशा कहते हैं कि कॉलेज में सभी सुविधा है. अब छात्रों ने विरोध करते हुए ज्ञापन सौंपा है तो उनकी समस्या का भी ख्याल रखना होगा. इसलिए जल्द ही विश्वविद्यालय से एक टीम बना कर सभी कॉलेज की जांच कराई जाएगी कि किस कॉलेज में कौन सा सुविधा मौजूद है या नहीं. कॉलेज में शिक्षकों की कमी को देखते हुए घंटी आधारित शिक्षकों की नियुक्ति कर उन्हें प्रत्येक क्लास के 200 रुपये दिये जा रहे हैं. कार्यक्रम की शुरुआत दीप जलाकर केयू के कुलगीत से की गई.

कम संसाधन में बेहतर रिजल्ट

कम संसाधन में बेहतर रिजल्ट कोल्हान विश्वविद्यालय नये शिष्य की तरह आगे बढ़ रहा है. इसमें गलती और सही दोनों कार्य हो जाता है. इसलिए गलत को गलत कहा जाना चाहिए तो सही कहने की भी ताकत होनी चाहिए. यह बातें केयू के स्थापना दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रति कुलपति डा. रणजीत सिंह ने कहीं. उन्होंने कहा कि कोई भी प्रकार की समस्या हो तो उसे सही जगह रखना चाहिए.

शिक्षकों की कमी बड़ी समस्या

केयू के कुल सचिव डा. एसएन सिंह ने कहा कि यहां शिक्षकों की कमी सबसे बड़ी है. प्रत्येक साल छात्रों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है लेकिन शिक्षक कम होते जा रहे हैं. इसलिए यह हमारे लिए एक बड़ी चुनौती बन चुकी है. हमारे पदाधिकारी अपने समय से ज्यादा कार्य प्रत्येक दिन कर रहे हैं. तभी हम बेहतर परिणाम देने में सक्षम हो सके हैं. आने वाले समय केयू का बेहतर कल देखने को मिलेगा यह सभी को भरोसा देते हैं.

केयू में दिखेगा और बदलाव

केयू के सीनेट सदस्य राजेश शुक्ला ने कहा कि कोल्हान विश्वविद्यालय 10 वर्ष में ही रांची विश्वविद्यालय को टक्कर देने वाला बना है तो उसमें सभी को मेहनत और लगन शामिल है. हम सोना को भी नई आकार देते हैं तो उन्हें आग में पहले तपाते हैं. उसी प्रकार कोल्हान विश्वविद्यालय भी आग में तप कर तैयार होने वाला सोना बन कर उभरा है. इसमें शिक्षा की गुणवत्ता देख लें, डॉ मोहंती के नेतृत्व में यह नई ऊंचाईयों तक पहुंचेगा ऐसी उम्मीद है.

कोल्हान के युवा ज्यादा मेहनती

डीएसडब्ल्यू डा. टीसीके रमण ने का कि कोल्हान की धरती पर कोल्हान विश्वविद्यालय जैसा शिक्षण संस्थान खुला ही बड़ी उपलब्धि च्ै. यहां के बच्चों में जो पढ़ाई का लगन और मेहनत नजर आता है. पिछले साल तीन डिग्री कॉलेज मनोहरपुर, जगन्नाथपुर व मझगांव में खोला गया है. तीनों सफल रुप से संचालित हो रहे हैं. इसलिए विद्यार्थियों को भी इसमें मदद करना होगा. हमसभी मिल कर आगे बढ़ेंगे तो हर समस्या का समाधान किया जा सकेगा.

मोह लिया मन

स्थापना दिवस पर विभिन्न कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने शानदार प्रस्तुति देकर सभी का मन मोह लिया. वीमेंस कॉलेज जमशेदपुर च्ी छात्राओं ने स्वच्छता गीत से सभी को सराबोर कर दिया तो महिला कॉलेज की छात्राओं ने पुराने गीत व नृत्य से सभी को झूमने पर मजबूर कर दिये. टाटा कॉलेज चाईबासा की छात्राओं ने बॉलीवुड के साथ आदिवासी डांस से शमां बांधा. तो वुमेंस कॉलेज जमशेदपुर की छात्राओं ने आजादी के गीत से मौजूद लोगों को देश भक्ति भी भावना पैदा कर दी. इसके बाद अन्य कलाकारों ने नाटक, लोक गीत, लोक नृत्य आदि का प्रदर्शन कर सभी का मन मोह लिया.