छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : कोल्हान विश्वविद्यालय से पीजी में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स के लिए गुड न्यूज है. पीजी के विभिन्न विषयों में सीट से अधिक आवेदन है तो सभी छात्रों का नामांकन होगा. इसके लिए कॉलेजों को विश्वविद्यालय को सेकेंड शिफ्ट का प्रस्ताव देना होगा. इस संबंध में कोल्हान विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. शुक्ला माहांती की ओर से सभी कॉलेजों को नया निर्देश जारी किया गया है. निर्देश के मुताबिक स्टूडेंट्स की संख्या अधिक होने पर कॉलेज सेकेंड शिफ्ट के लिए स्टूडेंट्स का नामांकन ले सकते हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें पहले विश्वविद्यालय को प्रस्ताव भेजना होगा. प्रस्ताव पर मुहर लग जाने के बाद कॉलेज सेकेंड शिफ्ट में स्टूडेंट्सं का नामांकन लेंगे.

तीन कॉलेजों ने भेजा है पत्र

यह आदेश घाटशिला कॉलेज, जीसी जैन कॉमर्स कॉलेज और को-ऑपरेटिव कॉलेज की ओर से विश्वविद्यालय को भेजे गए पत्र के बाद दिया गया है. इन कॉलेजों की ओर विश्वविद्यालय को भेजे गए पत्र में बताया गया है कि उनके यहां तीन-चार विषयों में सीट से अधिक स्टूडेंट्स के आवेदन आये हुए है. स्पष्ट निर्देश न होने के कारण वे इनका एडमिशन नहीं ले पा रहे हैं.

अब तक चल रहा एडमिशन

कोल्हान विश्वविद्यालय में सीबीसीएस प्रणाली लागू होने के बावजूद भी सत्र नियमित नहीं हो पा रहा है. यूजी और पीजी की कक्षा जुलाई में प्रारंभ होनी थी.किन अब तक इस विश्वविद्यालय में एडमिशन चल रहा है. अभी संपूरक परीक्षा का परिणाम आना बाकी है. यह तय है कि इस परीक्षा में उतीर्ण परीक्षार्थियों के लिए फिर से विश्वविद्यालय को एडमिशन का डेट निकालना पड़ेगा. इस कारण सत्र लेट होना स्वाभाविक है.

नहीं हो रहा इंफॉर्मेशन अपडेट

सीबीसीएस प्रणाली के अनुसार अब विश्वविद्यालय अपडेट भी नहीं हो पाया है. स्टूडेंट्स की परेशानी तो दूर शिक्षक भी परेशान है. हालांकि यूजी प्रथम सेमेस्टर की कक्षाएं 24 अगस्त से प्रारंभ करने का निर्देश विश्वविद्यालय ने दिया था, लेकिन कहीं पर यूजी की कक्षाएं प्रारंभ होने की सूचना नहीं है.

पहले की ही तरह होगा रजिस्ट्रेशन

यूजी और पीजी में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स का रजिस्ट्रेशन पूर्ववत ही होगा. कोल्हान विश्वविद्यालय में चांसलर पोर्टल से एडमिश्न का आवेदन देने के कारण कॉलेज के शिक्षकों और स्टूडेंट्स के बीच रजिस्ट्रेशन को लेकर संशय की स्थिति पैदा हो गई थी. कई शिक्षकों का कहना था कि रजिस्ट्रेशन भी चांसलर पोर्टल के माध्यम से होगा. केयू के प्रॉक्टर डॉ. एके झा ने बताया कि इस संबंध में विश्वविद्यालय को कोई नया निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है. लिहाजा कॉलेज पहले की तरह ही रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को अपनाएंगे.