feature@inext.co.in
KANPUR: फिल्म इंडस्ट्री में मेल और फीमेल एक्टर्स को मिल रही फीस में एक बड़ा गैप है। जहां मेल एक्टर्स लंबे वक्त से फिल्म के प्रॉफिट शेयर कर रहे हैं वहीं कुछ एक्ट्रेसेस को अगर छोड़ दें तो ज्यादातर अभी भी एक अच्छी फीस के लेवल पर पहुंचने को तरस रही हैं। आलम ये है कि अगर मेल एक्टर को 20 करोड़ तक फीस मिल रही है तो फीमेल को 5-8 करोड़ में ही संतोष करना पड़ता है। इसमें बदलाव तो हो रहा है लेकिन पूरी तरह से बदलने में पता नहीं कितना वक्त लगेगा।
कृति बोलीं फिल्मों में हीरोइनों को क्यों मिलती है कम फीस,बताया अपनी आने वाली 3 मूवी के बारे में
बैलेंस हो रही है ये सिचुएशन

हीरोपंती से अपना फिल्मी करियर शुरू करने वाली कृति इस बारे में कहती हैं कि ये सिचुएशन बैलेंस हो रही है और फीमेल एक्टर्स को भी वो फीस मिल रही है जो वे डिजर्व करती हैं। एक रीसेंट इंटरव्यू में इस बारे में कृति ने कहा, 'मैंने हमेशा ये माना है कि किसे कितनी फीस मिले, इसका फैसला इस फैक्ट पर डिसाइड करना चाहिए कि किसने फिल्म में कितना काम किया है और उसकी वजह से बॉक्स-ऑफिस पर फिल्म कितना चल रही है। आज के कॉन्टेक्स्ट में अगर फीस की बात करें तो ये सिचुएशन धीमे ही सही लेकिन बैलेंस हो रही है और फीमेल एक्टर्स को भी रिकग्नाइज किया जा रहा है लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि अभी हमें और भी आगे जाना है।'
कृति बोलीं फिल्मों में हीरोइनों को क्यों मिलती है कम फीस,बताया अपनी आने वाली 3 मूवी के बारे में
फीमेल एक्टर्स के लिए बेस्ट टाइम
2014 में बॉलीवुड में एंट्री करने वाली कृति अब तक कुछ फीमेल-सेंट्रिक फिल्में भी कर चुकी हैं। वह कहती हैं कि उन्हें बहुत अच्छा लगता है ये देखकर कि बरेली की बर्फी, स्त्री और राजी जैसी फिल्में बॉक्स- ऑफिस पर बेहतरीन परफॉर्मेंस देती हैं और अवॉड्र्स भी जीतती हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि विमेन कैरेक्टर्स को अब फिल्म इंडस्ट्री में और ज्यादा इंपॉर्टेंस मिल रही है? तो उनका जवाब था, 'हां, बिल्कुल। ये सिनेमा में विमेन के लिए बेस्ट टाइम है और उसके लिए हमें ऑडियंस को शुक्रिया कहना चाहिए कि उन्होंने फीमेल कैरेक्टर्स वाली स्टोरीज को एक्सेप्ट किया। विमेन-सेंट्रिक फिल्में भी टॉप मेल स्टार्स के बराबरी पर हैं।'

'लुका-छुपी' के पहले लिव-इन रिलेशन पर बन चुकी हैं कई फिल्में, तीन तो कार्तिक आर्यन की ही हैं


2019 में ये नई बाॅलीवुड जोड़ियां फिल्मों में पहली बार दिखेंगी साथ, रणवीर-आलिया 'गली ब्वाॅय' संग तैयार

कंटेट ही फिल्म का हीरो है
कृति कहती हैं कि आज की फिल्मों में सिर्फ कंटेंट ही डिसाइडिंग फैक्टर है। ऑडियंस आज डिफरेंट सब्जेक्ट्स को एक्सेप्ट कर रही है। आज वो टॉपिक्स भी चल रहे हैं जो कभी टैबू माने जाते थे तो सबसे बड़ा रोल ऑडियंस के एक्सेप्टेंस का है। कृति की पिछली फिल्म लुका-छुपी हिट साबित हुई थी और जल्द ही वह अर्जुन पटियाला, पानीपत और हाउसफुल 4 जैसी फिल्मों में नजर आएंगी। अपने करियर के बारे में वह कहती हैं, 'मैं अभी उस जगह पर हूं जहां मुझे वैसा काम करने का मौका मिल रहा है जैसा मैं करना चाहती हूं। मैं खुश हूं कि ये सभी फिल्में अलग-अलग जॉनर की हैं और मुझे लगता है कि यही तरीका है ग्रो करने का।'

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk