छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: कोल्हान यूनिवर्सिटी (केयू) के शिक्षकों को एकेडमिक ग्रेड पे (एजीपी) का लाभ दिलाने के लिए बनी कमेटी ने विवि के रजिस्ट्रार को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. अब केयू की वीसी को इस रिपोर्ट के बारे में फैसला लेना है. कमेटी ने 121 शिक्षकों को एजीपी के योग्य माना है और 09 शिक्षकों को अयोग्य. कमेटी के चेयरमैन राम प्रवेश प्रसाद ने बताया कि 07 अगस्त को इससे संबंधित रिपोर्ट सौंप दी गई है. कमेटी ने शिक्षकों के सभी दस्तावेजों का अवलोकन करते हुए रिपोर्ट तैयार की है. मूलत : यह मामला 2008 में हुई नियुक्ति से जुड़ा हुआ है. चार साल सेवा पूरी होने के बाद शिक्षकों को एजीपी का लाभ नहीं मिल पा रहा था. अभी तक इन्हें मात्र 4 हजार रुपया एजीपी ही मिल रहा था. मालूम हो कि इस कमेटी में सदस्य सचिव के रूप में एमके मिश्रा, सदस्य के रूप में राजेंद्र भारती, किरण शुक्ला, लक्ष्मण प्रसाद को शामिल किया गया था.

ये हैं एजीपी के मापदंड

-चार साल सेवा पूरी करने तथा एक ओरिएंटेशन और एक रिफ्रेशर करने वाले शिक्षकों को 7000 का एजीपी.

-यदि पीएचडी नहीं की है और एमफिल किया है और ओरिएंटेशन और रिफ्रेशर किया हो तो उन्हें भी 7 हजार का एजीपी का लाभ पांच साल सेवा पूरी करने पर मिलेगा.

-नन पीएचडी और नन एमफिल लेकिन एक ओरियेंटेशन और एक रिफ्रेशर पूरा किया हो तथा वे छह साल सेवा पूरी कर चुके हैं तो उन्हें भी सात हजार रुपया एजीपी मिलेगा.

-नन पीएचडी, नन एमफिल, ओरियेंटेशन और रिफ्रेशर पूरा नहीं किया हो तो उन्हें किसी तरह का एजीपी नहीं मिलेगा.