दो-तीन दिन में बसवार प्लांट में शुरू हो जाएगा कचरे का निस्तारण

हरी-भरी का दावा, 15 जून तक निस्तारित हो जाएगा कुंभ का कचरा

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश और गवर्नमेंट की सख्ती का असर दिखाई देने लगा है। बसवार प्लांट में लगे कुंभ मेले के कचरे के ढेर को निस्तारित करने के लिए हरी-भरी के साथ नगर निगम प्रशासन भी एक्टिव हो गया है। दो-तीन दिन में बसवार प्लांट में कचरा निस्तारण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसे जून तक पूरा करने का दावा किया जा रहा है। उम्मीद जताई जा रही है कि जुलाई से मार्केट में कुंभ खाद आ जाएगी। हरी-भरी ने इसकी भी तैयारी शुरू कर दी है।

काश, तभी चेत जाते

हरी-भरी के उत्पादन प्रभारी राजन नाथ कहते हैं कि कंपनी ने कुंभ से पहले ही मशीनों को बदलने की जरूरत के बारे में सरकार को सूचित किया था। तब इसे सीरियसली नहीं लिया गया। प्रशासन ने भी इस तरफ ध्यान नहीं दिया। मशीनों में प्रति दिन 400 टन कचरे को निस्तारित करने की क्षमता थी और कुंभ के दौरान रोजाना 800-900 टन ठोस कचरा प्लांट में फेंका जा रहा था। इसकी वजह से कचरा निस्तारित नहीं हो सका।

सरकार ने जारी की मदद धनराशि

एनजीटी के आदेश के बाद बसवार प्लांट में लगे कचरे के ढेर को निस्तारित करने और बंद पड़ी मशीनों को चालू करने के लिए सरकार ने धनराशि जारी कर दी है। इस महीने के अंतिम सप्ताह में या फिर तीन-चार दिन के अंदर बसवार प्लांट चालू हो जाएगा। कचरा निस्तारण की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। हरी-भरी के अधिकारियों का दावा है कि 15 जून से पहले कुंभ मेले के कचरे को निस्तारित करने के साथ ही उसे खाद बना लिया जाएगा। इसे जल्द कुंभ खाद के रूप में वितरित किया जाएगा।

कुंभ मेला के कचरे को निस्तारित करने की प्रक्रिया तेज हो गई है। हरी-भरी भी एक्टिव हो गई है। दो-तीन दिन में कचरा निस्तारण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

-उत्तम कुमार

पर्यावरण अभियंता, नगर निगम