कानपुर। प्रयागराज मेंं मकर संक्रांति के अवसर पर कुंभ का आगाज हुआ। इस बार कुंभ का आयोजन काफी भव्य तरीके से हो रहा है। यहां पहले दिन के शाही स्नान पर दो कराेड़ श्रृद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगाई। अनुमान है कि इस बार प्रयागराज कुंभ में 50 दिन में करीब 15 करोड़ लोग स्नान करेंगे। इसके साथ ही 4 मार्च को शिवरात्रि पर अंतिम स्नान पर्व पर कुंभ मेले में बड़ी संख्या में लोग पहुंचेगे। ऐसे में प्रशासन ने यहां पर शाही स्नान पर चार पहिया वाहनों के लिए पार्किंग की खास व्यवस्था की है। ऐसे में आप यहां बिना टेंशन जा सकते हैं।

चार एंट्री प्वाइंट से करेंगे प्रवेश तो यहां करें पार्किंग
प्रयागराज में चार इंट्री प्वाइंट हैं। इसमें एक एंट्री प्वाइंट कानपुर-इलाबाद मार्ग से है। वहीं दूसरा एंट्री प्वाइंट फाफामऊ पुल की ओर से है। इसमें भी दो रास्ते हैं। इसमें एक लखनऊ और दूसरा फैजाबाद प्रतापगढ़ मार्ग है। तीसरा एंट्री प्वाइंट झूंसी पुल से है। इसमें भी दाे रास्ते हैं। एक जैानपुर मार्ग और दूसरा बनारस मार्ग है। वहीं यहां चाैथा एंट्री प्वाइंट यमुना पुल से है। इसमें भी दो रास्ते हैं। एक रास्ता रीवा-चित्रकूट की तरफ से और दूसरा मिर्जापुर-विध्यांचल की तरफ से आता है। हल्के व वाहनों के प्रवेश के लिए अलग-अलग पार्किंग स्थल बने हैं।

 


इस तरह से स्नान घाट के नजदीक करें पार्किंग
प्रयागराज में कुछ पार्किंग स्थलों व स्नान घाटों के बीच की दूरी आधे से पांच किलोमीटर है। वहीं कुछ पार्किंग स्थलों की दूरी पांच किलोमीटर से भी ज्यादा है। ऐसे में अगर आप शाही स्नान से एक दिन पहले जाते हैं तो आपको स्नान घाटों से काफी करीब कार आदि पार्किंग की जगह मिल जाएगी। वहीं अगर आप शाही स्नान की सुबह या उसी रात को पहुंचते है तो पार्किंग स्थल भर जाने से स्नान घाट से काफी दूर पर कार पार्क करने  की जगह मिलेगी। ऐसे में गाड़ी पार्क करने के बाद करीब आठ से दस किलाेमीटर पैदल चलना पड़ सकता है।

पार्किंग स्थलों पर मिलेंगी ये लग्जरी सुविधाएं

कुंभ में बने 95 पार्किंग स्थलों में कुछ पार्किंग स्थ काफी ज्यादा हाईटेक हैं। करीब 18 सैटेलाइट पार्किंग बनाई गई हैं। इसमें श्रद्धालुओं की सुविधा का विशेष ध्यान रखा जाएगा। सामान आदि रखने के लिए अमानती घर बनाए गए। खाने पीने के लिए भी विशेष सुविधा होगी। इसके लिए खास तरह के वेंडिंग जोन बनाए गए हैं। चिकित्सा सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। वहीं पेयजल एवं शौचालय की भी विशेष व्यवस्था है। इसके साथ ही श्रद्धालुओं को यहां साइनेज, एलईडी व टीवी स्क्रीन, पब्लिक एड्रेस सिस्टम लग्जरी सुविधाएं दी जाएंगी।

प्रयागराज में कार पार्किंग की पूरी जानकारी के यहां क्लिक करें...

कुंभ के लिए गोरखपुर और भटनी से चलेंगी ये स्पेशल गाड़ियां

प्रयागराज कुंभ 2019: अनोखी है संगम तट पर बसी टेंट सिटी, तस्वीरों में देखें अंदर का नजारा

National News inextlive from India News Desk