prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: कुंभ मेला 2019 के लिए केन्द्र और प्रदेश सरकार ने पूरी ताकत झोंक दी है. मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो. इसके लिए मौसम विभाग ने भी पल-पल के मौसम की जानकारी देने का मन बनाया है. इसका शुभारंभ दिल्ली से होने जा रहा है. प्रयागराज में आटोमेटिक वेदर सेंटर ने काम शुरु कर दिया है. मेला क्षेत्र समेत पूरे शहर में जगह-जगह लगाए गए डिसप्ले बोर्ड पर हर 15 मिनट में जानकारी को अपडेट किया जाएगा.

फोरकास्टिंग से रहेंगे अपडेट
पृथ्वी विज्ञान तथा पर्यावरण एवं वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भारत प्रवास केन्द्र, लोदी रोड नई दिल्ली में सोमवार की दोपहर 12 बजे आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कुंभ मेले के लिए मौसम संबंधी विशेष सेवाओं का उद्घाटन करेंगे. यह सेवा कुंभ मेला 2019 जनवरी से मार्च तक प्रयागराज में संचालित की जाएगी. मौसम पूर्वानुमान एवं अगले तीन दिन के मौसम के बारे में पूर्वानुमान संबंधी सूचना प्रदान करने के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय कुंभ मेले के दौरान प्रयागराज जाने वाले लोगों के लिए मौसम संबंधी विशेष सेवाएं प्रारंभ कर रहा है.

चार जगहों पर सेंटर स्थापित
कुंभ मेले में आने वाले लोगों को जानकारी देने के लिए प्रयागराज में चार अलग-अलग स्थानों पर स्वचालित मौसम केन्द्र स्थापित कर प्रारंभ भी कर दिए गए हैं. ये प्रेक्षण केन्द्र 5-10 किमी. के व्यास में सभी चार दिशाओं में स्थापित किए गए हैं. इन केन्द्रों को इलाहाबाद विश्वविद्यालय, दिल्ली पब्लिक स्कूल, जीबी पंत सामाजिक विज्ञान संस्थान और सैम हिग्गनबॉटम कृषि, प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान विश्वविद्यालय में प्रारंभ किया गया हैं. चारों केन्द्रों से तापमान, आद्रता, वर्षा और पवन संबंधी ताजा सूचना का प्रसार करने के लिए कुंभ मेला मौसम सेवा नामक एक मोबाइल एप भी विकसित किया गया है.

मेला क्षेत्र से सीधे लेंगे डाटा
इविवि में आटोमेटिक वेदर सेंटर के बनर्जी सेंटर ऑफ एटमॉसफेरिक एंड ओसियन स्टडीज के लोकल कोआर्डिनेटर डॉ. शैलेन्द्र राय ने बताया कि यह मोबाइल एप अगले तीन दिनों के लिए प्रयागराज के बारे में मौसम संबंधी पूर्वानुमान और चेतावनियां भी जारी करेगा. यह मोबाइल एप कोई भी गूगल स्टोर से डाउनलोड कर सकता है. अरैल स्थित सेक्टर 18 में एक वैन सेवा का लाभ भी यात्रियों को मिलेगा. इसमें लगाए गए वेदर इंस्ट्रुमेंट्स के जरिए भी डाटा सीधे मेला क्षेत्र से एकत्रित किया जाएगा.

विशिष्ट मौसम संबंधी सूचना स्थानीय लोगों के लिए बहुत मददगार साबित होगी. इससे मौसम के बारे में अद्यतन जानकारी प्राप्त होने से तीर्थयात्रियों को भी लाभ होगा. सेंटर से मिलने वाली सभी जानकारियों को भारत मौसम विज्ञान विभाग की वेबसाइट पर भी अपडेट किया जाएगा.
डॉ. शैलेन्द्र रॉय, लोकल कोआर्डिनेटर, आटोमेटिक वेदर सेंटर इलाहाबाद यूनिवर्सिटी