-काशी विद्यापीठ के छात्रसंघ चुनाव में जीत के लिए प्रत्याशियों ने झोंकी ताकत

-कैंपस से एक किमी के दायरे से पोस्टर, बैनर व होर्डिग को हटाने का निर्देश

varanasi@inext.co.in

VARANASI

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में 14 अक्टूबर को होने वाले छात्रसंघ चुनाव को लेकर गुरुवार को भी छात्रों में जबरदस्त जोर आजमाइश रही. प्रत्याशियों के समर्थक पूरे जोश में हैं. वे चुनाव आचार संहिता भूल गए है. समर्थकों का हुजूम परिसर में जुलूस के रूप में प्रचार-प्रसार करते रहे. इस दौरान प्रत्याशियों के समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की और पम्फलेट उड़ाए. समाजिक विज्ञान चौराहा पम्फलेट से पटा रहा. हालांकि विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने झाड़ू लेकर सफाई भी की.

हुई झड़प भी

कैंपस में प्रचार के दौरान छात्रों के दो गुटों के आमने-सामने आ जाने से उनमें झड़प भी हुई. मौके पर मौजूद वरिष्ठ छात्र नेताओं ने दोनों गुटों के छात्रों को समझा-बुझाकर शांत कराया. वहीं प्रत्याशियों व उनके समर्थकों पर सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जा रही है. परिसर में सीसीटीटी कैमरों की संख्या बढ़ा दी गई है. मतदान के 30 घंटा पहले कैंपस में प्रचार-प्रसार पर रोक लगा दी जाएगी. ऐसे में शुक्रवार को शाम पांच बजे तक शोर थम जाएगा. उधर चुनाव अधिकारी प्रो. मुन्नी लाल ने बताया कि प्रत्याशियों से विद्यापीठ परिसर से एक किमी के दायरे से पोस्टर, बैनर व होर्डिग हटाने का निर्देश दिया गया है. ऐसा न करने पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी भी दी गई है.

प्वाइंट टू बी नोटेड

-छात्रसंघ के विभिन्न पदों के लिए 26 प्रत्याशी मैदान में

-8,839 वोटर्स (इनमें 5,219 छात्र व 3,620 छात्राएं)

- 23 बूथ बने (जिसमें दस छात्राओं के लिए)

- मतदाताओं को नोटा (इसमें से कोई नहीं) का भी विकल्प

-ओएमआर पर मतदान

-बार कोडेड परिचय पत्र