छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: मई दिवस पर श्रम विभाग ने मंगलवार को बिष्टुपुर स्थित माइकल जॉन आडिटोरियम में श्रमिक सम्मान समारोह आयोजित किया. समारोह में विभिन्न योजनाओं के तहत एक करोड़ एक लाख रुपये की राशि का वितरण किया.

इस मौके पर झारखंड सरकार के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने विभिन्न योजनाओं के लाभुक श्रमिकों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया. बतौर मुख्य अतिथि अपने संबोधन में मंत्री ने कहा कि अमेरिका के शिकागो की घटना (वर्ष 1886) के पहले और बाद में देश में जो भी बदलाव हुए हैं, वह हमें सोचने को विवश करते हैं. कार्ल मा‌र्क्स भी कहते थे कि हम श्रम का उचित मूल्य नहीं देते हैं. यही वजह है कि श्रमिकों के लिए आंदोलन होते रहे. कई वामपंथी संगठनों ने इनके लिए आंदोलन किया, सत्ता में भी आए और रहे, लेकिन मजदूरों की स्थिति में व्यापक सुधार नहीं हुआ. आज दमन तो नहीं दिखता, लेकिन दमन जैसी प्रवृत्ति दिखती है. मजदूरी को मजबूरी से जोड़ दिया जाता है. इसकी वजह से अल्प वेतनभोगी का बड़ा समूह खड़ा हो गया है. अमीर-गरीब का अंतर बढ़ रहा है. पिछले दिनों प्रधानमंत्री दावोस गए थे, तो अखबारों में भारत की आर्थिक स्थिति पर रिपोर्ट छपी थी. इसमें बताया गया कि देश की कुल पूंजी का 73 फीसद एक फीसद लोगों के पास है. सरयू ने कहा कि देश में दो लोगों ने श्रमिकों के हित में बड़ा काम किया, उनमें डॉ. राम मनोहर लोहिया और दीनदयाल उपाध्याय थे. इन सबके बावजूद स्थिति नहीं बदली, क्योंकि नैतिकता खो गई. नैतिकता हर स्तर पर होनी चाहिए. इससे पूर्व उपश्रमायुक्त राकेश प्रसाद ने श्रमिकों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का जिक्र किया, तो सांसद विद्युत वरण महतो, उपायुक्त अमित कुमार व जिला परिषद के उपाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने भी अपने विचार रखे. कार्यक्रम का संचालन मधु मनचंदा ने किया.

इन्हें मिला सम्मान

पार्वती मुंडा, कृष्ण मोहन सोरेन, दीपक रूहीदास, सत्यवान, पूर्णिमा मुर्मू, ¨रकी गोराई, परेश महतो, छिता हांसदा, आरती महतो, छिता माझी, रूपाली महतो, कलिका महतो, उर्मिला दास, शांति गोप, शालिनी भूमिज आदि.

शिक्षण संस्थानों में मना मजदूर दिवस

शहर के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में मई दिवस के अवसर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. इस दौरान खासतौर से कर्मचारियों का सम्मान किया गया. बच्चों ने कार्यक्रम प्रस्तुत किया और शिक्षकों-बच्चों ने मजदूर दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला.

बारीडीह स्कूल में बच्चों ने किया काम

जमशेदपुर : बारीडीह हाई स्कूल में मजदूर दिवस पर कार्यक्रम का आयोजित किया गया. स्कूल के छात्र-छात्राओं ने पूरे दिन विद्यालय का सारा काम खुद किया. इस दौरान बच्चों की ओर से विविध कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए. स्वागत भाषण रचना ने दिया. इस दौरान आस्था ने मधुर गीत प्रस्तुत किया. संस्कृति ने अंग्रेजी में मजदूरों के लिए कविता पाठ किया. प्रधानाध्यापिका संगीता हलधर ने कर्मचारियों को बेहतर कार्य के लिए बधाई दी.

केएसएम में कर्मचारियों का सम्मान

केएसएमएस इको क्लब की ओर से विशेष रूप से मजदूर दिवस मनाया गया. इस दौरान चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों के बीच टी-शर्ट से निर्मित इको फ्रेंडली बैग का वितरण किया गया. केएसएमएस परिसर को प्लास्टिक फ्री बनाने की मुहिम के तहत यह पहल की गई. इसे ग्रो ग्रीन अभियान का नाम दिया गया. स्कूल की प्रिंसिपल नंदिनी शुक्ला के मार्गदर्शन में यह पहल की गई.

एलएफएस में सम्मानित हुए महिला-पुरुष कर्मी

टेल्को स्थित लिटिल फ्लावर स्कूल में मजदूर दिवस पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम के दौरान स्कूलों में कार्य करने वाले महिला व पुरुष कर्मचारियों को विशेष रूप से सम्मानित किया गया. इस दौरान कर्मचारियों के बीच प्रतियोगिताएं आयोजित की गईं. इसके अलावा स्कूल गीत बजाया गया. स्कूल मैनेजमेंट की ओर से कर्मचारियों को सम्मानित किया गया.

जुस्को स्कूल में बाल मजदूरी रोकने का संदेश

कदमा स्थित जुस्को स्कूल में मजदूर दिवस के अवसर पर आयोजित किए गए कार्यक्रम के दौरान कक्षा पांचवीं व छठवीं के बच्चों की ओर से बाल मजदूरी को रोकने का संदेश दिया गया. इसके अलावा म्युजिकल चेयर प्रतियोगिता में कर्मचारियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. स्कूल की प्रिंसिपल झुमझुमी नंदी ने कर्मचारियों को मजदूर दिवस की बधाई दी.

माइ किड्स में हुआ आयोजन

माई किड्स स्कूल कागलनगर रोड नंबर तीन में मदर्स डे का उत्सव मनाया गया. इसके आयोजन का

मुख्य उद्देश्य बच्चों और माताओं के बीच आपसी तालमेल एवं वात्सल्य के महत्व को बताना था. कार्यक्रम में स्कूल के सारे बच्चों ने पहले अपने हाथों से बनाई हुई चीजों से अपनी मां का स्वागत किया. इसके जरिये बच्चों ने सृजनशीलता का उदाहरण पेश किया. बच्चों ने अपनी मां के सम्मान में गीत प्रस्तुत किया. वहीं माताओं ने अपने बच्चों के साथ नृत्य किया.

मजदूर दिवस का महत्व बताया

मोतीलाल नेहरु पब्लिक स्कूल में मई दिवस के अवसर पर कार्यक्रम में मजदूर दिवस के महत्व को बताया गया. शुभारंभ प्राचार्या आशु तिवारी ने किया. उन्होंने अपने संबोधन में यह संदेश दिया कि कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता. सभी कामगार सम्मान के पात्र होते हैं. इस अवसर पर छात्र-छात्राओं ने विद्यालय के आया, दीदी और गार्ड के सम्मान में नृत्य-संगीत प्रस्तुत किया. उन्हें उपहार प्रदान किया. उनके बीच मनोरंजक खेल का भी आयोजन किया गया. इसमें देवकी, मल्लिका, कौशल्या, मन्सा, पुष्पा और भरत को पुरस्कार प्रदान किया गया. इसके साथ ही विद्यालय कैबिनेट 2018-2019 का गठन हुआ. सदस्यों को शपथ दिलाई गई.

आरएवीएस एकेडमी में बढ़ाया कर्मचारियों का मनोबल

मानगो के डिमना रोड स्थित आरवीएस एकेडमी में सोमवार को मजदूर दिवस के मौके पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए. इसमें विद्यालय के सभी कर्मचारी मौजूद रहे. कार्यक्रम की शुरुआत प्राचार्या छाया दास के संबोधन से हुई. उन्होंने कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाते हुए सभी को बेहतर भविष्य की शुभकामनाएं दीं. उप प्राचार्या मिताली रॉय चौधरी ने कर्मचारियों को मजदूर दिवस की शुभकामनाएं दी. इस बीच विद्यालय के बच्चों ने गीत और अपने विचार प्रस्तुत किए. संचालन शिक्षिका सुमन कुमारी ने और धन्यवाद ज्ञापन सहायिका ममता दास ने किया. अंत में सभी कर्मचारियों को उपहार और मिठाई का वितरण किया गया.

वायस ऑफ ह्यूमनिटी ने मनाया मजदूर दिवस

वॉयस ऑफ ह्यूमनिटी ने मजदूर दिवस अनोखे अंदाज में मनाया. सदस्यों ने शहर के अलग-अलग क्षेत्र में मेहनत मजदूरी कर रहे बुजुर्ग और महिला मजदूरों को गमछा ओढा़ कम सम्मानित किया. मजदूरों को जूस भी पिलाया गया. इस मौके पर हरि सिंह, मोहन कुमार, अजय, शंभू, मनीष, रवी, प्रतीक, मुकुंद, अंजन, रवींद्र, संदीप, हरेंद्र, अभिषेक, नीरज आदि मौजूद रहे.