-डायलिसिस के साथ सीटी स्कैन मशीन खराब

-मरीजों को हो रही परेशानी, नहीं सुधर रहे हालात

DEHRADUN: दून मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के हाल सुधरने का नाम नहीं ले रहे. ये हाल तब है जब स्वास्थ्य महकमे की जिम्मेदारी खुद सूबे के सीएम देख रहे हैं. दून हॉस्पिटल में अब डायलिसिस और सीटी स्कैन की मशीनें खराब पड़ी हैं.

एक हफ्ते से नहीं हो रहा डायलिसिस

राजधानी के सबसे बड़े अस्पताल के हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहा है. डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा अस्पताल यहां की खराब मशीनों से भी परेशान है. अस्पताल में आने वाले मरीजों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. दून अस्पताल में इलाज कराने वालों में वीआ‌र्इ्रपी से लेकर गरीब तबके के लोग आते हैं. ऐसे में जो लोग पैसे की कमी से बाहर इलाज नहीं करवा सकते हैं. उनके लिए समस्या खड़ी हो रही है. अस्पताल के एमएस डॉ. केके टम्टा ने बताया कि सीटी स्कैन की मशीन गुरुवार से खराब है. इसके अलावा डायलिसिस की मशीन एक हफ्ते से बंद पड़ी है. जिस वजह से मरीजों को डायलिसिस की सुविधा नहीं मिल रही.

स्वास्थ्य की कमान सीएम के पास

सूबे में स्वास्थ्य महकमे की कमान सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने पास ही रखी है. ऐसे में स्वास्थ्य के हालातों को सुधारने का जिम्मा भी सीएम के पास है. हालांकि दून अस्पताल अब मेडिकल एजुकेशन के जिम्मे है. लेकिन यहां पर इलाज करवाने के लिए सबसे ज्यादा लोग आते हैें. जिससे सीएम के साथ स्वास्थ्य विभाग हमेशा ही दून अस्पताल के हालातों पर नजर बनाए रखता है. पिछले दिनों सीएम के स्वास्थ्य सलाहाकार ने भी दून अस्पताल के हालात का जायजा लेकर दून अस्पताल की स्थिति सुधारने को कहा था. लेकिन, दून अस्पताल की स्थितियां सुधरने का नाम नहीें ले रही हैं.