ऐसे हैं आरोप
कांग्रेस ने वसुंधरा और ललित मोदी दोनों पर इस बात का आरोप लगाया है कि इन दोनों ने मिल कर धौलपुर राजमहल को निजी संपत्ति में बदल दिया है। वह अब इस राजमहल का संचालन फाइव स्टार होटल के रूप में करते हैं। वह दोनों इसको नियंत हेरिटेज होटल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तहत संचालित करते हैं। दूसरी ओर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परणामी व चिकित्सा मंत्री राजेंद्र राठौर ने जयपुर में प्रेस कान्फ्रेंस की। इस कान्‍फ्रेंस में कांग्रेस पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व उनके परिवार के खिलाफ दुष्प्रचार करने का आरोप लगाया गया है।

कांग्रेस नेता ने दिया जवाब
इस दौरान दोनों नेताओं ने कुछ दस्तावज भी मीडिया कर्मियों के सामने रखे। इन दस्‍तावेजों को दिखाते हुए उन्‍होंने कहा कि इनसे यह बात साफ हो जाती है कि धौलपुर महल सरकारी संपत्ति नहीं है। वहीं, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने इसका जवाब देते हुए कहा कि धौलपुर महल सरकारी संपत्ति हुआ करती थी, लेकिन राजे ने ललित मोदी संग मिल कर इसे निजी संपत्ति बना लिया है।

दस्‍तावेजों को किया गया प्रस्‍तुत
इस दौरान उन्होंने कहा कि 1954 से लेकर 2010 तक के दस्तावेजों से यह बात पूरी तरह से साफ हो जाती है। रमेश के अनुसार, होटल का संचालन करने वाले कंपनी नियंत हेरिटेज होटल प्राइवेट लिमिटेड में वसुंधरा राजे, उनके बेटे दुष्यंत सिंह व बहू के साथ ललित मोदी के भी शेयर बराबरी में शामिल हैं। गौरतलब है कि दो-तीन दिन पहले ही राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता अशोक गहलौत ने यह बात कही थी कि धौलपुर महल को सात सितारा होटल बनाने के पूरे प्रकरण की जांच होनी चाहिए। वहीं इस पूरे मामले में वसुंधरा राजे ने चुप्‍पी साध ली है।

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk