ranchi@inext.co.in
RANCHI: चारा घोटाले में सजायाफ्ता व रिम्स में इलाजरत राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मिलने उनकी दो बेटी व दामाद पहुंचे। इनमें छोटी बेटी रोहिणी आचार्य, उत्तर प्रदेश से आई बेटी राजलक्ष्मी व दामाद तेजप्रताप थे। दिन के 12 बजे सभी रिम्स के पेईग वार्ड में मिलने पहुंचे। लालू यादव के साथ चार घंटे से अधिक समय बिता कर निकलने के बाद बेटी राजलक्ष्मी व दामाद तेजप्रताप ने पिता लालू यादव के इलाज से असंतोष जाहिर किया। उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि इलाज में कोताही बरती जा रही है। जो डॉक्टर इलाज कर रहे हैं, वे केवल खानापूर्ति कर रहे हैं। यह समझ में नहीं आ रहा है कि जब रिम्स में बेहतर इलाज का दावा किया जाता है तो फिर इतने लंबे समय से इलाजरत होने के बाद भी उनकी सेहत में सुधार क्यों नहीं हो रहा है। दामाद तेजप्रताप ने भी जोर देते हुए कहा कि इतने लंबे समय से इलाज के बाद भी उनके स्वास्थ्य में सुधार नहीं होना संदेह पैदा करता है। हम तो सरकार से मांग कर रहे हैं कि लालू यादव को बेहतर इलाज के लिए रिम्स से बाहर ले जाने की अनुमति दी जाए। लालू यादव की बीमारी को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है।

23 के बाद केंद्र सरकार का अंतिम संस्कार
लालू यादव की दूसरी बेटी रोहिणी आचार्य पिता से मिलकर निकलने के बाद काफी नाराज दिखी। लालू यादव की लोकसभा चुनाव में अनुपस्थिति के सवाल पर प्रधानमंत्री मोदी पर तंज करते हुए कहा कि 23 मई के बाद इस सरकार का अंतिम संस्कार हो जाएगा। पीएम के केदारनाथ मंदिर पहुंचने पर कहा कि, गुफा में नौटंकी चल रही है। पहले सन्यासी बने, अब समाधि ले रहे हैं, फिर भगोड़े बनेंगे।