क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मिलने के लिए लिस्ट में नाम होना जरूरी है. क्योंकि जेल मैनुअल के मुताबिक, शनिवार को लालू प्रसाद यादव से मुलाकात का दिन होता है. ऐसे में जेल मैनुएल के तहत तीन ही लोग लालू प्रसाद से मुलाकात कर सकते हैं, वो भी अनुमति मिलने के बाद. रांची जिला प्रशासन ने लालू प्रसाद की सुरक्षा के लिए ऐसा नियम बनाया है, ताकि उनकी सुरक्षा बरकरार रहे.

सुरक्षाकर्मियों से नोकझोंक

शनिवार को लालू प्रसाद से मुलाकात करने बिहार मधुबनी के विस्फी विधायक डॉ फैयाज अहमद पहुंचे. उनके साथ लालू के अटेंडेंट भोला प्रसाद यादव साथ में थे. इस दौरान सुरक्षाकर्मियों के साथ अटेंडेंट भोला प्रसाद यादव की फैयाज अहमद को रिम्स के अंदर ले जाने को लेकर नोकझोंक भी हुई. हालांकि भोला प्रसाद सुरक्षा कर्मियों से नोक-झोंक करके जबरन रिम्स में घुस गए. मौके पर भोला प्रसाद ने कहा कि हमें आप लोग कानून मत सिखाइए. उनकी सेहत का हाल जानने के साथ ही नेता राजनीतिक हलचल पर भी चर्चा करते हैं.

भुवनेश्वर मेहता को रोका गया

इसी कड़ी में शनिवार को पहले सीपीआई नेता भुवनेश्वर मेहता लालू से मिलने पहुंचे, लेकिन लिस्ट में नाम नहीं होने की वजह से फिलहाल उन्हें मिलने से रोक दिया गया. इसके बाद बिहार मधुबनी के विस्फी विधायक डॉ फैयाज अहमद लालू के अटेंडेंट भोला प्रसाद यादव के साथ रिम्स में मिलने पहुंचे थे.

......

किन-किन दिग्गजों ने अबतक लालू से की मुलाकात

30 दिसंबर 2018: राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) सु्प्रीमो उपेंद्र कुशवाहा तथा निषाद संघ के मुकेश सहनी.

28 दिसंबर, 2018: छोटे बेटे तेजस्वी यादव रांची पहुंचे. लालू यादव से बिहार के वर्तमान राजनीतिक माहौल पर चर्चा की.

22 दिसंबर 2018: कांग्रेस नेता शकील अहमद, सिने स्टार शत्रुघ्न सिन्हा.

08 दिसंबर, 2018: केंद्रीय नेता शरद यादव ने रिम्स में लालू यादव से मुलाकात की.

04 जनवरी, 2019: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी.

04 जनवरी, 2019: बेटी रागिनी व दामाद समरेश यादव.

कई बीमारियों से पीडि़त हैं लालू प्रसाद

रिम्स के अधीक्षक डॉक्टर उमेश प्रसाद के मुताबिक, लालू प्रसाद क्त्रोनिक किडनी फेल्योर (स्टेज थ्री) से पीडि़त हैं. इसके अलावा प्रोस्टेट, हाइपर यूरीसिमिया, पेरियेनल इंफेक्शन, किडनी स्टोन, फैटी लीवर आदि की भी समस्या है. पहले से ही उनका किडनी लगभग 45 प्रतिशत काम कर रहा है. लंबे समय से उन्हें डायबिटीज है. प्रतिदिन इंसुलिन दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि उनकी बीमारियों के उतार चढ़ाव को देखते हुए सेहत की मॉनीटरिंग नियमित रूप से की जा रही है.