इस तरह एक्‍टिंग की दुनिया में रखा कदम
10 नवंबर 1967 को जन्‍में आशुतोष राणा ने काफी समय बाद फिल्‍मों में इंट्री की थी। जिस वक्‍त उन्‍होंने पहली फिल्‍म की उनकी उम्र 32 साल थी। उससे पहले वह टीवी सीरियल किया करते थे और अपनी दमदार अदाकारी के बूते उन्‍हें फिल्‍मों का रास्‍ता मिला। आशुतोष अक्‍सर अपने गांव में होने वाली रामलीला में रावण का रोल निभाया करते थे। वहां उनके एक गुरु थे, जिन्‍हें दादा जी कहा जाता था। गुरु के कहने पर ही आशुतोष ने टीवी और फिल्‍मी दुनिया में कदम रखा।
एक वकील जो गुंडा बनने फिल्‍मों में आया,डेब्‍यू मूवी में जीत गया था फिल्‍मफेयर अवार्ड
महेश भट्ट ने भगा दिया था राणा को
गांव से निकलने से पहले गुरु 'दादा जी' ने आशुतोष को बता दिया था कि उन्‍हें 'एस' अक्षर से जो प्रोजेक्‍ट मिले उसे साइन कर लें। आशुतोष मुंबई आ गए और एस अक्षर से शुरु होने वाली फिल्‍म या सीरियल की तलाश में भटकने लगे। तभी उन्‍हें पता चला कि मशहूर फिल्‍म डायरेक्‍टर महेश भट्ट 'स्‍वाभिमान' नाम का सीरियल बनाने जा रहे हैं। आशुतोष तुरंत भट्ट के ऑफिस पहुंच गए। केबिन में घुसते ही आशुतोष ने महेश भट्ट के पैर छू लिए, बस फिर क्‍या भट्ट भड़क गए उन्‍होंने सिक्‍योरिटी गार्ड्स को बुलाकर आशुतोष राणा को फिल्‍म सेट से बाहर करवा दिया। दरअसल महेश को पैर छूने वाले लोग बिल्‍कुल पसंद नहीं थे।
एक वकील जो गुंडा बनने फिल्‍मों में आया,डेब्‍यू मूवी में जीत गया था फिल्‍मफेयर अवार्ड
सीरियल से की शुरुआत
आशुतोष ने फिर भी हार नहीं मानी, वह रोज महेश भट्ट के ऑफिस के चक्‍कर लगाते और भट्ट जैसे दिखते लपक कर उनके पैर छू लेते। एक दिन आखिर महेश ने आशुतोष को रोक पूछ ही लिया कि, उन्‍हें जब पैर छूने वालों से इतनी नफरत है तो आशुतोष पैर क्‍यों छूते हैं। राणा ने जवाब दिया कि, यह उनके घर के संस्‍कार हैं। आखिरकार महेश ने सीरियल 'स्‍वाभिमान' में राणा को एक गुंडे का किरदार दे दिया। पहला ब्रेक मिलने के बाद राणा ने फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। राणा ने वकालत की डिग्री भी ली है लेकिन उन्‍होंने वकील बनने से पहले खुद को एक फिल्‍मी गुंडे के रूप में स्‍थापित कर लिया था।
एक वकील जो गुंडा बनने फिल्‍मों में आया,डेब्‍यू मूवी में जीत गया था फिल्‍मफेयर अवार्ड
विलेनगिरी कर जीता फिल्‍मफेयर अवार्ड

'स्‍वाभिमान', 'फर्ज', 'साजिश' और 'वारिस' जैसे मशहूर सीरियलों में काम करने के बाद साल 1998 में आई फिल्‍म 'दुश्‍मन' से राणा ने फिल्‍मी दुनिया में कदम रखा। उस जमाने की यह सुपरहिट फिल्‍म थी। राणा ने एक साइको किलर का रोल निभाकर खूब वाहवाही बटोरी। इस फिल्‍म में खतरनाक विलेन के रोल के लिए उन्‍हें फिल्‍मफेयर अवार्ड से भी सम्‍मानित किया गया। इसके बाद साल 1999 में आई फिल्‍म 'संघर्ष' में भी उन्‍हें बेस्‍ट विलेन का अवार्ड मिला। आशुतोष ने साल 2001 में एक्ट्रेस रेणुका शाहने से शादी की जो खुद एक एक्‍ट्रेस हैं। इनके दो बेटे हैं।

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk