डाकघर की लापरवाही के कारण नही पहुंच रहे पत्र

कैंट स्थित डाकघर के अंतर्गत आते हैं 30 से 40 लेटर बॉक्स

Meerut. मोबाइल इंटरनेट के दौर में लोगों ने अब दोस्तों-रिश्तेदारों को पत्र भेजना कम कर दिया है. तो इधर डाक विभाग के लेटर बाक्स का प्रयोग अब न के बराबर रह गया है. नतीजा, विभाग ने इस पर ध्यान देना बंद कर दिया है. इस कारण कुछ लोगों द्वारा भेजी जा रही डाक भी गंतव्य तक नहीं पहुंच रही है. शहर में जगह-जगह लगे लेटर बाक्स भी अब गायब होने शुरू हो गए हैं. बचे हुए लेटर बॉक्स पर न तो ताले लगे हैं और न उनकी कोई देखरेख हो रही है.

ठीक हो रहे लेटर बॉक्स

गौरतलब है कि कैंट डाकघर के अंतर्गत शहर में लगभग 30-40 लेटर बॉक्स आते हैं. डाकघर अधिकारी के अनुसार क्षतिग्रस्त लेटर बॉक्स को ठीक करने का काम चल रहा है. इस कारण से पुराने लेटर बॉक्स हटा दिए गए हैं, कैंट स्थित डाकघर के पोस्टमास्टर राजेश कुमार ने बताया कि जिन लेटर बॉक्स के ताले गायब हैं या अन्य कोई दिक्कत है तो उन्हें जल्द ठीक कराया जाएगा.

हमारे अंतर्गत जितने भी लेटर बॉक्स आते है, उन्हें जल्द से जल्द ठीक कराया जा रहा है. जिन जगहों पर पहले लेटर बॉक्स लगे थे. उन्हें दोबारा भी वही पर लगवा जाएगे.

राजेश कुमार, पोस्ट मास्टर कैंट

मैने कई बार सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई करके लेटर बाक्स में फॉर्म भेजा, लेकिन वह सही जगह नहीं पहुंच पाया.

रवि

रक्षाबंधन पर सबसे ज्यादा लेटर बॉक्स प्रयोग किया जाता है. वही ज्यादातर लोगों द्वारा लेटर बाक्स में राखी भेजने के लिये डाली जाती है, परंतु वह भी नही पहुंचती है.

सोनू