सुसाइड करने वाले एलआईसी कर्मचारी ने लिखा है सुसाइड नोट

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: जार्जटाउन थाना क्षेत्र निवासी एलआईसी कर्मचारी राजेश कुमार हितैषी (45) ने मंगलवार सुबह फांसी लगा कर जान दे दी. पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और कमरे की तलाशी ली. छानबीन में कमरे के अंदर पुलिस को सुसाइड नोट मिला है. इसमें राजेश ने बीमारी से तंग होकर सुसाइड की बात लिखी है.

सीनियर क्लर्क था राजेश

जार्जटाउन थाना क्षेत्र के जवाहर लाल नेहरू एरिया स्थित कैलाश अपार्टमेंट निवासी राजेश हितैषी एलआईसी में सीनियर क्लर्क के पद पर तैनात था. उनकी पत्‍‌नी रश्मि एक स्कूल में शिक्षिका हैं. सोमवार सुबह रश्मि स्कूल चली गई. इकलौता बेटा हर्षित पढ़ने स्कूल गया था. दोपहर करीब साढ़े 12 बजे रश्मि घर पहुंची तो दरवाजा खोलते ही पंखे के चुल्ले में रस्सी के सहारे पति राजेश को लटकते देख चीख पड़ी. आवाज सुनते ही पड़ोस के लोग दौड़ पड़े. बगैर देर किए लोगों ने रस्सी काट कर उसे नीचे उतारा और अस्पताल ले गए. वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. सूचना पर पहुंची जार्जटाउन पुलिस ने कमरे से की छानबीन की. तलाशी में एक सुसाइड नोट मिला. इसमें लिखा है कि 'मैं विगत कई दिनों से ब्लड प्रेशर, अनिद्रा, अकेलापन, डिप्रेशन और मानसिक रूप से परेशान हो चुका हूं, मेरी परेशानियां बढ़ती जा रही है, कोई दवा फायदा नहीं कर रही है. मेरे मर जाने के बाद मेरी बीवी रश्मि और बेटे हर्षित को पुलिस जबरन पूछताछ कर परेशान ना करे. मैं अपनी मर्जी से फांसी लगा रहा हूं, इसका जिम्मेदार मैं खुद हूं' राजेश के आत्मघाती कदम से पत्‍‌नी व बेटा बिलखते रहे. इंस्पेक्टर जार्जटाउन संतोष शर्मा का कहना है कि बीमारी से तंग आकर बीमा कर्मचारी ने फांसी लगाकर जान दी है.