i impact

अभियान के चलते जागा RTO, counter से भगाए गए दलाल

केवल applicant को मिल रही entry

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: दैनिक जागरण आई नेक्स्ट अभियान का असर आरटीओ विभाग में दिखने लगा है. अधिकारियों ने दलालों को सिस्टम से दूर करने के उपायों पर मंथन शुरू कर दिया है. खासकर लाइसेंस रिन्यूवल की प्रक्रिया में बदलाव की तैयारियां होने लगी है. अधिकारियों का कहना है कि इससे दलालों के दखल पर प्रभावी रोक लग सकेगी. इसके अलावा काउंटर पर केवल आवेदकों को जाने की छूट दी जाएगी.

नए तरीके से होगा आवेदन

अभी तक लाइसेंस रिन्यूवल की फीस मैनुअल जमा की जाती है. जिसकी वजह से दलाल सबसे ज्यादा इस प्रक्रिया में अपना दखल रखते हैं और रिन्यूवल के नाम पर जमकर धन उगाही करते हैं. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट द्वारा चलाए जा रहे अभियान के खुलासे के बाद अधिकारियों का कहना है इस प्रक्रिया को भी दो से तीन दिनों में ऑनलाइन कर दिया जाएगा. इससे दलालों का वर्चस्व कम हो जाएगा.

कैसे जमा होगी फीस

नए सिस्टम में आवेदककर्ता को सबसे पहले अपना पुराना ड्राइविंग लाइसेंस और आवेदन चेक कराना होगा. कागजात चेक होने के बाद रिन्यूवल फीस मैनुअल न होकर ऑनलाइन जमा की जाएगी. बता दें कि वर्तमान में लाइसेंस रिन्यूवल में दलाल सर्वाधिक सक्रिय हैं, जिसका कारण इसकी फीस का मैनुअल जमा होना है. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने इसका खुलासा भी किया था. जानकारी के मुताबिक आरटीओ विभाग में प्रतिदिन कम से कम 50 लाइसेंस रिन्यूवल होते हैं और इसके आधे नए लाइसेंस जारी किए जाते हैं.

ष्द्मष्ठद्य

हाथ में बंच तो देना होगा जवाब

गुरुवार को आरटीओ अधिकारियों ने तमाम विंडो का दौरा करके दलालों की छानबीन भी की. जो रियल आवेदक थे, उन्ही को विंडो पर जाने दिया गया. इसके अलावा जिनके पास फार्मो का बंच मौजूद था, उनसे पूछताछ कर विभाग के बाहर कर दिया गया. अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है, जिसके तहत केवल आवेदक ही काउंटर तक पहुंचेंगे.

मैंने अधीनस्थों को ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूवल की फीस ऑनलाइन जमा कराने के आदेश दिए हैं. जल्द ही यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी, जिससे दलालों के दखल पर लगाम लग सकेगी. इसके अलावा काउंटर पर केवल आवेदकों को जाने दिया जाएगा.

-अनिल कुमार सिंह,

एआरटीओ प्रशासन