परिवहन विभाग का लाइसेंस ट्रेसिंग टोल फ्री नंबर जारी

टोल फ्री नंबर से मिलेगी लाइसेंस के घर पहुंचने तक की जानकारी

MEERUT । ड्राइविंग लाइसेंस की लेटलतीफी होने पर अब आपके सवालों के जवाब और आपके लाइसेंस की लोकेशन दिखाने का काम भी परिवहन विभाग करेगा। डीएल आवेदन के बाद से आवेदक के घर तक पहुंचने के सफर की पूरी जानकारी को टोल फ्री नंबर से ले सकेंगे। आवेदक जब भी चाहें अपनी डीएल की लोकेशन इस टोल फ्री नंबर से पता कर सकेंगे।

देरी पर होगी मदद

गौरतलब है कि ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का पूरा जिम्मा गत माह से स्मार्ट चिप कंपनी ने लिया है। कंपनी द्वारा पूरे प्रदेश के लाइसेंस लखनऊ मुख्यालय से ही तैयार होकर भेजे जाने की प्रक्रिया शुरु की गई। इस प्रक्रिया में 7 से 10 दिनों के भीतर आवेदक का लाइसेंस उसके घर पर पहुंचना होता है। ऐसे में लाइसेंस में देरी पर आवेदक अपने लाइसेंस की स्थिति व देरी के कारण का पता लगा सके इसके लिए विभाग ने 1800-1800-152 टोल फ्री नंबर जारी किया है।

मिलेगी जानकारी

आवेदन करने के बाद लाइसेंस यदि आवेदक के पास 7 से 10 दिन में नहीं पहुंचता तो आवेदक टोल फ्री नंबर पर फोन करके ड्राइविंग लाइसेंस प्रक्रिया का अपडेट ले सकता है यानि लाइसेंस प्रक्रिया किस स्तर पर रुकी हुई है, कार्यालय से डाटा भेजा जा चुका है या एजेंसी के पास रुका हुआ है या फिर कितने दिनों में लाइसेंस आवेदक के पास पहुंच जाएगा। यदि इसके बाद भी आवेदक को लाइसेंस नही प्राप्त होता है तो आवेदक इस नंबर पर ही अपनी शिकायत दर्ज करा सकेगा। शिकायत पर तुरंत एक्शन लिया जाएगा।

मोबाइल पर मैसेज

कंपनी द्वारा डीएल एक्सपायरी डेट का अपडेट भी आवेदक के मोबाइल पर दिया जाएगा। इसके लिए आवेदक को अपना मोबाइल नंबर और मेल आईडी भी आवेदन फार्म पर दर्ज करनी होगी। इस मोबाइल नंबर पर लाइसेंस एक्सपायरी तारीख भी आवेदक को अपडेट कराई जाएगी। जब रिन्यूअल या एक्सपायरी का समय आएगा तो सॉफ्टवेयर खुद ब खुद रिमाइंडर मैसेज जेनरेट कर आवेदक के मोबाइल और मेल पर भेजना शुरू कर देगा।

17 मई से मुख्यालय स्तर पर यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। इस टोल फ्री नंबर पर सुबह 8 से शाम 8 बजे तक आवेदकों को अपने लाइसेंस का अपडेट मिलेगा।

- सीएल निगम, आरआई