- वकील को भेजकर मांगा समय, मीटिंग मे व्यस्त होना बताई वजह
- खनन विभाग के रिटायर्ड क्लर्क रामाश्रय प्रजापति से गहन पूछताछ

आई अपडेट

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: सपा एमएलसी ने सुबह करीब 11.30 बजे अपने वकील अमर सिंह राठौर को ईडी के दफ्तर भेजा जिन्होंने अफसरों को बताया कि पहले से तय मीटिंग में व्यस्त होने की वजह से रमेश मिश्रा आज आने में असमर्थ हैं लिहाजा उनको कुछ दिन बाद आने की तारीख दी जाए। फिलहाल ईडी के अफसरों ने उनको नई तारीख नहीं दी है। वहीं दूसरी ओर एक अन्य आरोपी खनन विभाग के रिटायर क्लर्क राम आश्रय प्रजापति ईडी के सामने पेश हुए पर उन्होंने घोटाले से जुड़े सवालों पर चुप्पी साधे रखी।
 
पहले से तय थी मीटिंग
एमएलसी रमेश मिश्रा के वकील ने ईडी दफ्तर से बाहर आने के बाद पत्रकारों को बताया कि सपा एमएलसी की मीटिंग पहले से तय थी जिसकी वजह से वह ईडी के अधिकारियों के सामने पेश नहीं हो सके। उन्होंने सपा एमएलसी को दोबारा समय देने का अनुरोध अफसरों से किया है। उनके वकील ने ईडी के ज्वाइंट डायरेक्टर राजेश्वर सिंह से मिलने का प्रयास भी किया पर वह दफ्तर में मौजूद नहीं थे। अमर सिंह ने बताया कि ईडी ने सपा एमएलसी से केवल इंकम टैक्स रिटर्न की जानकारी देने को कहा है हालांकि ईडी के सूत्रों की मानें तो उनसे उनके परिजनों की संपत्तियों के साथ खनन के पट्टों से हुई आय और व्यय का पूरा लेखा-जोखा तलब किया गया है। ध्यान रहे कि सपा एमएलसी को भी सीबीआई ने अपनी एफआईआर में आरोपी बनाया था। विगत पांच जनवरी को चंद्रकला के साथ उनके ठिकानों पर भी छापेमारी की गयी थी। उनके आवास से सीबीआई को तमाम अवैध असलहे भी मिले थे।

रिटायर्ड क्लर्क से पूछताछ
वहीं दोपहर बाद हमीरपुर खनन घोटाले के एक अन्य आरोपी रिटायर क्लर्क राम आश्रय प्रजापति ईडी के दफ्तर में पेश हुए। ईडी के अफसरों ने उनसे खनन घोटाले को लेकर तमाम सवाल किए पर वह चुप्पी साधे रहे। उन्होंने कहा कि वह करीब छह साल पहले ही खनन विभाग से रिटायर हो चुके हैं और घोटाले में उनकी कोई भूमिका नहीं थी। तत्कालीन खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के रिश्तेदार बताए जा रहे राम आश्रय प्रजापति से ईडी के अफसर देर शाम तक पूछताछ करते रहे। करीब चार घंटे तक पूछताछ के बाद उनको दोबारा बुलाने पर आने की हिदायत के साथ जाने दिया गया।

चंद्रकला के दस्तावेजों का परीक्षण नहीं
वहीं हमीरपुर की तत्कालीन डीएम बी चंद्रकला द्वारा वकील के जरिए भेजे गये दस्तावेजों का ईडी ने अभी तक परीक्षण शुरू नहीं किया है। माना जा रहा है कि इस हफ्ते दस्तावेजों का गहन परीक्षण करने के बाद चंद्रकला को पेश होने के लिए दोबारा नोटिस भेजा जाएगा। मालूम हो कि चंद्रकला को विगत 24 जनवरी को ईडी दफ्तर आना था पर उन्होंने अपने वकील के जरिए ईडी द्वारा मांगे गये दस्तावेज भेजे थे।

ईडी के सामने नहीं पेश हुर्ई आईएएस बी. चंद्रकला

National News inextlive from India News Desk