अभी तक यूइंग क्रिश्चियन कॉलेज में दो चरण में होते रहे हैं चुनाव

पहले कक्षावार रिप्रजेंटेटिव्स, फिर निर्वाचित छात्रसंघ

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी और उससे जुड़े चार कॉलेजेस में छात्रसंघ चुनाव अक्टूबर माह में होने हैं. इविवि से जुड़े आटोनॉमस कॉलेज यूइंग क्रिश्चियन कॉलेज (ईसीसी) में भी छात्रसंघ चुनाव करवाए जाने हैं. लेकिन इससे पहले ईसीसी में बड़ा चेंज हो सकता है. ईसीसी में चुनाव इविवि और दूसरे कॉलेजेस के पैटर्न पर ही करवाए जाने की प्लानिंग की जा रही है.

डॉ. अनिल बने चुनाव अधिकारी

गौरतलब है कि ईसीसी में प्रिंसिपल को लेकर हुए विवाद के बाद प्रभारी प्रिंसिपल डॉ. एडीएम डेविड की नियुक्ति हो चुकी है. कॉलेज के कामकाज में निर्णय के स्तर पर कोई रूकावट न हो. इसके लिए कॉलेज में इविवि की ओर से ओएसडी प्रो. आरके सिंह की नियुक्ति भी की जा चुकी है. कॉलेज में जिस दिन प्रभारी प्रिंसिपल की नियुक्ति की गई, उस दिन ईसीसी में छात्रसंघ चुनाव के लिए चुनाव अधिकारी डॉ. अनिल सिंह की भी नियुक्ति की गई. कॉलेज की ओर से सूचना जारी कर कहा गया कि ईसीसी के चुनाव भी इविवि के चुनाव के साथ करवाए जाएंगे. पूर्व के वर्षो में ईसीसी का चुनाव विवि के चुनाव से कुछ पहले ही हो जाया करता था.

कॉलेज में बदलाव की बयार

ऐसे समय जब कॉलेज में चुनाव अधिकारी की नियुक्ति हो चुकी है. तब कॉलेज में बदलाव की बयार के बीच छात्रसंघ चुनाव भी नए पैटर्न पर करवाए जाने की प्लानिंग की जा रही है. अगर सबकुछ ठीक रहा तो ईसीसी में पहली बार छात्रसंघ चुनाव इविवि के चुनावों की तरह ही होंगे. इसमें आम छात्र-छात्राएं सीधे निर्वाचित छात्रसंघ का चुनाव करते हैं. अभी तक कॉलेज में चुनाव दो चरण में करवाए जाते रहे हैं. पहले चरण में छात्र रिप्रजेंटेटिव्स का चुनाव कक्षावार मतदान के जरिए करते हैं. इसके बाद कक्षावार चुने हुए प्रतिनिधि छात्रसंघ अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महामंत्री, उपमंत्री, सांस्कृतिक मंत्री, कोषाध्यक्ष आदि का चुनाव मताधिकार से करते हैं.

छात्र भी चाहते हैं डायरेक्ट इलेक्शन

ईसीसी में चुनाव के इस फार्मेट का विरोध लंबे समय से होता चला आ रहा था. कॉलेज का छात्र समुदाय हमेशा से मांग करता रहा है कि कॉलेज में एक चरण का चुनाव इविवि की तरह होना चाहिए न कि दो चरण में. शिक्षकों का एक तबका भी दबी जुबान इसके फेवर में रहा है. लेकिन कॉलेज ने चुनाव के इस फार्मेट को एडाप्ट करने से हमेशा से ही इंकार किया. उधर, यहां छात्रसंघ चुनाव को लेकर एक बड़ी बाधा परीक्षा भी है. कॉलेज में सेशनल एग्जाम भी होने हैं. ऐसे में कॉलेज प्रशासन इसपर विचार कर रहा है. जिससे चुनाव की समयावधि में परिवर्तन भी संभव है.

कॉलेज में छात्रसंघ चुनाव इविवि के चुनाव की तर्ज पर करवाया जा सकता है. इसपर विचार कर निर्णय लिया जाएगा. हालांकि, अभी इसपर ज्यादा कुछ कहना जल्दबाजी होगी. लेकिन यह हमारे एजेंडे में है. कॉलेज में सेशनल एग्जाम भी होना है. इलेक्शन का शेड्यूल इसको देखकर ही तैयार किया जाएगा.

डॉ. एडीएम डेविड, प्रभारी प्रिंसिपल, ईसीसी