सीसीएसयू की कार्य परिषद की आपात बैठक में लिए गए कई महत्वपूर्ण फैसले

बीएससी ऑनर्स रसायन में 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाने का ऐलान

MEERUT। सीसीएसयू की कार्यपरिषद की बैठक में बृहस्पतिवार को कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। बैठक की अध्यक्षता वीसी प्रो। एनके तनेजा ने की। सबसे महत्वपूर्ण निर्णय कॉलेजों को लेकर किया गया, जिसमें तय किया गया कि नैक निरीक्षण के आधार पर सभी कॉलेजों की सूची इस बार डाटा सहित नेट पर अपलोड की जा सकेगी, ताकि स्टूडेंट्स विवि की वेबसाइट पर कॉलेजों के बारे में जानकारी लेकर अवलोकन कर सकें कि उनको किस कॉलेज में एडमिशन लेना है, वहीं विवि में बीएससी ऑनर्स केमिस्ट्री की 20 सीटें बढ़ाने का भी अहम फैसला लिया गया।

बीएड कॉलेजों का विस्तारण

बैठक में बीएड कॉलेजों एवं लॉ कॉलेजों को विस्तारण करने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही जय श्री कॉलेज एजुकेशन व टेक्नोलॉजी बुलंदशहर के बीएड कोर्स की संबद्धता निरस्त करने के कारण 2017-19 के प्रवेशित छात्रों को विवि में संचालित अपने स्तर पर पढ़ने की व्यवस्था करेगा व परीक्षाएं कराना सुनिश्चित करेगा, जिन कॉलेजों में छात्र आवंटित किए गए थे, उनके खिलाफ एक समिति भी गठित की गई है। समिति में प्रो। अरुण कुमार व प्रो। जगबीर भारद्वाज होंगे।

कोर्स समाप्त करने का फैसला

प्रकाश इंस्टीट्यूट फिजियोथैरेपी एंड एप्लाइड साइंसज ग्रेटर नोएडा के बीबीए, बीसीए व भगवती कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट में बीएससी, बायोटेक्नोलॉजी व माइक्रो बायोलॉजी में संस्थानों के सचिवों के प्रार्थनापत्र के आधार पर इन कोर्स की समयबद्धता समाप्त कर दी गई है, शासन द्वारा यात्रा भत्ता की दरों को पुन रीक्षित करने की स्वीकृति प्रदान की गई है।

ये भी निर्णय

16 शोध छात्रों को शोध की उपाधि प्रदान करने की संस्तुति की गई

प्रमुख सचिव चिकित्सा यूपी के पत्र के आधार पर जब तक अटल विहार वाजपेयी चिकित्सा विवि की अधिसूचना प्रकाशित होने तक विवि चिकित्सा संबंधी कोर्स की संबद्धता व परीक्षाओं का आयोजन करता रहेगा।

विवि के नेताजी सुभाष चंद्र बोस प्रेक्षागृह को वातानुकुलित कर दिया गया है। इसके रख रखाव को ध्यान में रखते हुए किराए में वृद्धि कर दी गई है। नॉन एसी 30 हजार तथा एसी 50 हजार प्रतिदिन

ये रहे मौजूद

बैठक में प्रोवीसी प्रो। वाई विमला, डॉ। दर्शन लाल अरोड़ा, प्रो। अरुण सिंह, प्रो। योगेंद्र सिंह, प्रो। जितेंद्र ढाका, डॉ। हरेश प्रताप, वित्त अधिकारी सुशील गुप्ता व धीरेंद्र गुप्ता व प्रेस प्रवक्ता डॉ। प्रशांत कुमार रहे।