चेन्नई (पीटीआर्इ)।शनिवार को तमिलनाडु राज्य के कानूनी सेवा प्राधिकरण (टीएनएसएलए) की ओर से आयोजित लोक अदालतों ने कल सिर्फ एक दिन में 70 हजार मामलों का निस्तारण कर दिया गया। खास बात तो इनमें से करीब 40 हजार मामले काफी दिनों से पेंडिंग थे आैर करीब 30 हजार मामले सुनवाई के लिए दाखिल हुए थे। इन मामलों के निस्तारण के लिए मद्रास हाईकोर्ट में दस, मदुरई में छह और जिला व तालुक स्तर पर करीब 400 से अधिक मामले कुल 447 खंडपीठों ने विशेष भूमिका अदाकर निपटाए। वहीं मद्रास हाईकोर्ट के सेवारत और सेवानिवृत्त जजों ने चेन्नई और मदुरई में युद्धस्तर पर काम किया।

करोड़ों रुपये के विवादों का निपटारा किया

इन लोक अदालतों ने करीब 179.35 करोड़ रुपये के विवादों का निपटारा किया। लोक अदालतों का गठन सुप्रीम कोर्ट के दूसरे सबसे वरिष्ठ जज जस्टिस रंजन गोगोई के निर्देशों का पालन करते हुए किया गया था। जस्टिस गोगोई राष्ट्रीय कानूनी सेवा प्राधिकरण के अधिशासी अध्यक्ष पद की भी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। कानून जानकारों की मानें तो राष्ट्रीय विधि सेवा प्राधिकरण पूरे देश में अलग-अलग जगहों पर बदल-बदल कर हर महीने के दूसरे शनिवार को लोक अदालत लगाता है।

24 घंटे में साफ करें शहर के पब्लिक प्लेसेज- हाई कोर्ट

मेरठ में बनेंगी तीन नई फैमिली कोर्ट

National News inextlive from India News Desk