lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: मतदान से 48 घंटे पूर्व पूरी तरह से प्रचार पर पाबंदी होने के बावजूद सोशल मीडिया पर वोट मांगना 11 प्रत्याशियों को महंगा पडऩे वाला है। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने संबंधित निर्वाचन क्षेत्र के जिला निर्वाचन अधिकारी से इस बाबत रिपोर्ट तलब कर ली है। रिपोर्ट मिलने के बाद यदि आरोप सही पाए जाते हैं तो ऐसे उम्मीदवारों की दावेदारी खतरे में भी पड़ सकती है।
ब्रिटेन : सोशल मीडिया पर बच्चों के अकाउंट से हटेगा 'लाइक' बटन
सोशल मीडिया को बनाया प्रचार का हथियार तो खर्च का भी देना होगा हिसाब
 ये प्रत्याशी हैं शामिल
जिन उम्मीदवारों द्वारा सोशल मीडिया पर प्रचार करने का आरोप लगा है उनमें संभल से भाजपा के परमेश्वर लाल सैनी, फिरोजाबाद से भाजपा के चंद्रसेन जादौन, बदायूं से भाजपा की संघमित्रा मौर्या, मुरादाबाद से कांग्रेस के इमरान प्रतापगढ़ी, पीलीभीत से सपा-बसपा के हेमराज वर्मा, फिरोजाबाद से सपा के अक्षय यादव, एटा से भाजपा के राजवीर सिंह, आंवला से सपा-बसपा की रुचि वीरा, बरेली से कांग्रेस के प्रवीन सिंह ऐरन, बरेली से सपा के भगवत शरण गंगवार और मुरादाबाद से भाजपा के कुंवर सर्वेश कुमार सिंह शामिल हैं।