mukesh.chaturvedi
PRAYAGRAJ: अबकी वोट देने के लिए बूथ तक पैदल नहीं जाना पड़ेगा। वोटर अपनी गाड़ी से बूथ तक जा सकेंगे। रास्ते में उन्हें चेकिंग व सुरक्षा के नाम पर पुलिस परेशान नहीं करेगी। पुलिस रोकती है तो रुकना भी पड़ेगा लेकिन सिर्फ यह साबित करना होगा कि आप वोट डालने ही जा रहे हैं। बाइक पर या चार पहिया में बैठे अन्य लोगों का यह प्रमाण देना होगा कि वे परिवार के ही हैं। सभी लोग एक साथ वोट डालने जा रहे हैं।

सर्वे के बाद लिया गया निर्णय
पिछले चुनावों में सुरक्षा और चेकिंग के दौरान की जाने वाली सख्ती में इस मर्तबा थोड़ी ढील दी जाएगी। अब तक की गई पड़ताल में पाया गया कि सुविधा सम्पन्न लोग बूथ तक गर्मी व धूप में पैदल जाकर वोट देने से कतराते हैं। सबसे ज्यादा दिक्कत वृद्ध व दिव्यांग वोटरों को होती है। ये घरों से निकलते ही नहीं। प्रशासन ने इसका तोड़ निकाल लिया है और व्यवस्था दी है कि वे बूथ तक अपने वाहन से जाएं।

वोटर्स को ढोने पर होगी कार्रवाई

वोटरों को बूथ तक गाड़ी से जाने की दी गई छूट का लाभ किसी पार्टी या प्रत्याशी का समर्थक न उठा सके, इसके लिए भी तगड़े इंतजाम किए गए हैं।

गाडि़यों से वोटरों बूथ तक लाने और ले जाने का काम करने वालों के खिलाफ पुलिस वही बर्ताव करेगी, जो पिछले वर्षो से होता आया है।

वोटरों को ढोने वाले वाहनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी

मोबाइल पर पहुंचेगा बूथ नंबर

वोटर्स को बूथ खोजने में के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा

वोटर फार्म भरते समय जिन्होंने नंबर देखा है उनके मोबाइल पर बूथ नंबर और स्थान एसएमएस किया जाएगा

अधिकारियों की मानें तो करीब 90 प्रतिशत वोटर्स ने अपने मोबाइल नंबर दे रखे हैं

प्रयोग सफल हुआ तो वोटरों को मतदान के वक्त बूथ का स्थान व बूथ नंबर खोजने से मुक्ति मिल जाएगी

बीएलओ देगा बूथ का नक्शा
इस बार वोटरों की सहूलियत के लिए प्रशासन एक और प्रयोग करने जा रहा है। इसके तहत वोटरों को उनके बूथ का पूरा नक्शा दिया जाएगा। बीएलओ हर वोटर के घर उसके बूथ का नक्शा पहुंचाएगा। इस नक्शे पर बूथ कहां है वहां कैसे पहुंचा जाएगा यह मैप में इंगित होगा।

इस मर्तबा गाड़ी से बूथ के पास तक जाने के लिए सिर्फ वोटरों को छूट दी जाएगी। बाकी सुरक्षा को लेकर कोई समझौता नहीं किया जायेगा। अफसरों के साथ मीटिंग में वोटर्स के पास एसएमएस व बूथ का नक्शा भेजने पर चर्चा की गई थी।
मोहित अग्रवाल,आईजी रेंज प्रयागराज