कानपुर। लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में आज यानि 23 अप्रैल को उत्तर प्रदेश की 10 सीटों के अलावा भारत के तमाम शहरों में मतदान हो रहा है। दूल्हा-दुल्हन,  बुजुर्ग महिला और मरीज समेत कई लोगों ने वोटिंग किया है। यहां तक इसमें किसी ने डोली से उतर कर तो किसी ने गोद का सहारा लेकर मतदान किया है। उनकी तस्वीरें दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को बयान कर रही हैं। आइये उनपर एक नजर डालें।

शादी के तुरंत बाद जोड़े ने डाला वोट
बरेली लोकसभा क्षेत्र के सुभाष नगर मतदान केंद्र में शादी के तुरंत बाद एक वर वधु वोट डालने आये। इस तस्वीर से पता चलता है कि यह जोड़ी अपनी एक वोट की कीमत समझती है। इससे पहले 18 अप्रैल को जम्मू कश्मीर के उधमपुर पोलिंग स्टेशन पर एक नवविवाहित जोड़ा वोटिंग के लिए पहुंचा था।
ताकि जिंदाबाद रहे लोकतंत्र : किसी ने डोली से उतर किया मतदान तो किसी ने गोद का लिया सहारा

दुल्हन ने डाला वोट
बरेली में राजेंद्रनगर मीरगंज की दुल्हन मधु विदाई से पहले मतदान करने पहुंची। यह तस्वीर वोटिंग के प्रति काफी जागरूक करने का काम कर रही है।
ताकि जिंदाबाद रहे लोकतंत्र : किसी ने डोली से उतर किया मतदान तो किसी ने गोद का लिया सहारा

गोद में उठाकर डलवाया वोट
भारतीय पैरामिल्ट्री का एक सैनिक एक विकलांग महिला को पश्चिम बंगाल के मालदा में एक मतदान केंद्र पर वोट डलवाने के लिए ले जाता है। इससे पहले 18 अप्रैल को भी एक ऐसी ही तस्वीर देखने को मिली थी, जिसमें बिहार में 90 वर्षीय उर्मिला को भागलपुर के पोलिंग बूथ नंबर 39 पर वोट डलवाने के लिए एक सुरक्षाकर्मी गोद में उठाकर ले जा रहा था।
ताकि जिंदाबाद रहे लोकतंत्र : किसी ने डोली से उतर किया मतदान तो किसी ने गोद का लिया सहारा

नवविवाहित बहनों ने डाला वोट
छत्तीसगढ़ के बैकुंठपुर में मंगलवार को तीसरे चरण के चुनाव में मतदान के दौरान पोलिंग स्टेशन पर वोट डालने के बाद नव विवाहित बहनों ने स्याही का निशान दिखाया।
ताकि जिंदाबाद रहे लोकतंत्र : किसी ने डोली से उतर किया मतदान तो किसी ने गोद का लिया सहारा


Lok sabha Elections 2019 3rd Phase Live Update: रामपुर, बरेली और मैनपुरी में वोटिंग, 90 साल के रोशन लाल भी करने पहुंचे मतदान


बुजुर्ग महिला को वोट डलवाने ले जाते लोग

मौलाना आजाद इंटर कॉलेज बुजुर्ग महिला का वोट डलवाने ले जाते दिव्यांग मित्र।
ताकि जिंदाबाद रहे लोकतंत्र : किसी ने डोली से उतर किया मतदान तो किसी ने गोद का लिया सहारा