meerut@inext.co.in
MEERUT : भारत निर्वाचन आयोग ने एक बड़ा कदम उठाया है। चरणवार मतगणना प्रक्रिया के दौरान एक चरण का परिणाम पूरा होने के बाद ही दूसरे चरण की गिनती शुरू होगी। जबकि पूर्व में हर टेबिल पर अलग-अलग चरणों की मतगणना होती थी।

जरा समझ लें
मंगलवार को भारत निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से जनपद के अधिकारियों को मतगणना के संबंध में जानकारी दी। डीएम अनिल ढींगरा के नेतृत्व में कलक्ट्रेट स्थित एनआईसी में जनपदस्तर के अधिकारियों को ईसीआई अधिकारियों ने ब्रीफ किया। आयोग के अधिकारियों ने कहा कि इस बार एक चरण का परिणाम घोषित होने के बाद ही दूसरे चरण की मतगणना आरंभ होगी।

ये होता था अभी तक
बता दें कि अभी तक टेबलवार अलग-अलग चरणों की मतगणना होती रहती थी। जिससे न सिर्फ रिजल्ट को लेकर अफरा-तफरी रहती थी बल्कि कभी-कभी विवाद की स्थिति भी बन जाती थी। इस बार हर विधानसभा में 14-14 टेबल पर मतगणना होगी, सभी टेबल पर चरणवार गणना एकसाथ होगी।

मॉक काउंटिंग भी राउंडवार
सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी/एडीएम प्रशासन रामचंद्र ने बताया कि 5-5 ईवीएम और वीवी पैट का मिलान हर विधानसभा में किया जाएगा। ईवीएम और वीवीपैट का मिलान भी राउंडवार किया जाएगा। 5 राउंड में मॉक काउंटिंग कराई जाएगी। इसके अलावा यदि किसी ईवीएम की कंट्रोल यूनिट (सीयू) में कोई दिक्कत आ रही है, या रिजल्ट ओपन नहीं हो पा रहा है तो उसके वोट्स का मिलान भी वीवी पैट से कराया जाएगा।

1950 कर कॉल करके जानें नतीजे
सहायक रिटर्निग अधिकारी द्वारा चरणवार रिजल्ट की घोषणा के बाद इसे सुविधा पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाएगा। यहां से रिजल्ट वोटर हेल्प लाइन (1950) के साथ साझा किया जाएगा। वहीं मतगणना स्थल पर स्थित बोर्ड पर डिस्प्ले कर दिया जाएगा। जनसामान्य 1950 पर कॉल करके रिजल्ट की जानकारी हासिल कर सकते हैं। मीडिया के बीच एडीएम फाइनेंस सुभाष चंद्र प्रजापति चरणवार रिजल्ट ही घोषणा करेंगे।

अब तक 3500 पोस्टल बैलेट
इलेक्ट्रानिकली ट्रांसमीटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम (ईटीपीबीएस) एक कारगर सिस्टम साबित हो रहा है। मेरठ में 4548 सर्विस वोटर को इस सिस्टम के तहत मतदान प्रक्रिया में शामिल किया गया था। मंगलवार तक जिसमें से करीब 3500 सर्विस वोटर्स ने अपना वोट कॉस्ट करके पोस्टल बैलेट जिला निर्वाचन कार्यालय को भेज दिया है जबकि 22 मई तक डाक के माध्यम से आ रहे सर्विस वोटर्स के पोस्टल बैलेट को एसेप्ट किया जाएगा। डीएम अनिल ढींगरा ने मंगलवार को ईटीपीबीएस से जुड़े प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की।

करना होगा इंतजार
बता दें कि आमतौर पर लोकसभा और विधानसभा चुनाव की मतगणना 4 बजे तक पूर्ण होकर करीब 5 बजे तक रिजल्ट घोषित हो जाता था। किंतु इस बार रिजल्ट के लिए इंतजार करना होगा। सहायक निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मॉक काउंटिंग, चरणवार रिजल्ट घोषणा, पोस्टल बैलेट की काउंटिंग आदि प्रक्रियाओं में समय लगेगा। जिसका प्रभाव रिजल्ट घोषित होने की टाइमिंग पर पड़ेगा। शाम 6 बज तक रिजल्ट घोषित की उम्मीद अधिकारी जता रहे हैं।

1000 कर्मी रहेंगे तैनात
23 मई को प्रस्तावित मतगणना के लिए जनपद में एक हजार कर्मचारियों की तैनाती की जा रही है। ज्यादातर बैंककर्मी और विभिन्न विभागों के एकाउंट से जुड़े कर्मचारियों को तैनात किया गया है। कर्मचारियों का पहला रेण्डमाइजेशन 16 मई को होगा जबकि 18 और 22 मई को इन कर्मचारियों की ट्रेनिंग होगी।

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मतगणना के दौरान प्रत्याशियों को मिल वोट्स की चरणवार जानकारी दी जाएगी।
- अनिल ढींगरा, जिलाधिकारी, मेरठ