लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर उच्च अधिकारियों ने की बैठक

चार स्थानों से रवाना होंगी पोंिलंग पार्टियां

PRAYAGRAJ: निर्वाचन में लगे अधिकारियों और कर्मचारियों को पहचानने में आम मतदाताओं को दिक्कत नही होगी। आसानी से उनका पद नाम पता चल जाएगा। पहली बार सभी को प्रशासनिक अधिकारी पद नाम वाली टोपी उपलब्ध कराने पर विचार कर रहे हैं। संगम सभागार में हुई बैठक में कमिश्नर डॉ। आशीष गोयल ने निर्वाचन की तैयारियों की समीक्षा की। जिला निर्वाचन अधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी और एसएसपी अतुल शर्मा ने कमिश्नर को तैयारियों की पूरी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नामांकन के बाद प्रत्याशियों के नामांकन का परीक्षण चल रहा है। पोलिंग पार्टियां विधानसभावार केपी कॉलेज, एमएनएनआईटी, नादर्न प्रिंटिंग टेक्नोलाजी और परेड ग्राउंड से रवाना होंगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि दिव्यांग मतदाताओं को व्हीलचेयर और रैंप की सुविधा देने के साथ वालंटियर्स भी तैनात किए जा रहे हैं। बैठक में आईजी मोहित अग्रवाल, सीडीओ अरविन्द सिंह सहित तमाम प्रशासन और पुलिस के अधिकारी उपस्थित रहे।

इन सुविधाओं पर लगी मुहर

मूकबधिर मतदाताओं के लिए निर्देश पत्र मतदान केन्द्रों पर चिपकाये जायेंगे

सुदूर स्थलों के बूथों पर स्टैटिक मजिस्ट्रटों की तैनाती पर्याप्त संख्या में की जाएगी।

कंट्रोल रूम में आने वाली शिकायतों का निस्तारण पूरी जांच के उपरान्त ही किया जाएगा।

विधान सभावार बैरिकेडिंग कर अराजकतत्वों के भ्रमण पर नकेल कसी जायेगी।

मतदाता अपने वाहन से जाकर अपने मत का प्रयोग कर सकेंगे।

पुलिसकर्मी बैलेट पेपर के माध्यम से मतदान करेंगे

जो पुलिसकर्मी या निर्वाचन अधिकारी या निर्वाचनकर्मी अपने ही संसदीय क्षेत्र मे निर्वाचन हेतु तैनात होते है तो वे वहां वोट दे सकेंगे

पार्किंग स्थलों से चलेंगी शटल बसें

मुंडेरा मंडी में बेहतर यातायात प्लान के लिए पार्किंग स्थल चिंहित कर लिए जाएं।

टोकन सिस्टम भी लागू किया जाए।

शटल बसें सुविधा के लिए चलाई जा सकती हैं। क

मतदान कर्मियों की सुविधा पर विशेष ध्यान दिया जाय

उनके लिए पर्याप्त भोजन और पेयजल की व्यवस्था हो।