i special

-वोट डालने निकला पूरा परिवार तो देखते रह गए मोहल्ले वाले

- एक ही घर में साथ रहता है चार भाइयों का परिवार

balaji.kesharwani@inext.co.in
PRAYAGRAJ: यूं तो हर कोई एक दो या तीन की संख्या में मतदान के लिए जाता है। लेकिन अगर पूरा का पूरा सामूहिक परिवार ही मतदान के लिए चल पड़े तो देखने वालों को सुखद एहसास तो होता ही है। लोकतंत्र में आस्था का भी यह प्रमाण होती है। कुछ ऐसा ही नजारा बादशाही मंडी में रविवार को मतदान के लिए देखने को मिला। जब सर्राफा कारोबारी राकेश सिंह, दिनेश सिंह, राजेश सिंह और मुकेश सिंह का परिवार मतदान के लिए निकला तो सभी को पता चल गया कि ये लोग कहीं घूमने नहीं जा रहे, बल्कि वोट देने जा रहे हैं।

चौंकिए नहीं, यह हमारी फैमिली है
रविवार को शहर की सड़कों पर और मतदान केंद्रों के आसपास दोपहर में सन्नाटा फैला हुआ था। वहीं बादशाही मंडी में रहने वाला सर्राफा कारोबारियों का पूरा परिवार एक साथ मतदान करने के लिए जाता हुआ दिखाई दिया। उनका मतदान केंद्र जीरो रोड स्थित अग्रवाल इंटर कॉलेज था। इस दौरान दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट रिपोर्टर ने अग्रवाल इंटर कॉलेज के पास 10-12 लोगों के भरे पूरे इस परिवार को रोककर पूछा तो उन्होंने बताया कि ये उनकी पूरी फैमिली है जो हमेशा एक साथ रहती है। एक साथ चलती है और अब साथ-साथ मतदान के लिए भी निकली है।

एक दुकान, पुश्तैनी मकान
परिवार के मुखिया व चार भाइयों में सबसे बड़े भाई राकेश सिंह ने बताया कि लोकनाथ चौराहे पर गोपी ज्वेलर्स के नाम से उनकी करीब 100 साल पुरानी दुकान है। बादशाही मंडी में पुश्तैनी मकान है। जहां हम चार भाई राकेश सिंह, दिनेश सिंह, राजेश सिंह और मुकेश सिंह का परिवार रहता है। हमारा मकान एक है और हमारी दुकान भी एक है। एक ही दुकान पर हम चारों भाई बैठते हैं। राजेश के छोटे भाई दिनेश ने कहा कि ये बात सही है कि परिवार टूट रहे हैं, लोग बिखर रहे हैं। लेकिन एक साथ रहने का जो मजा है, उसका सुख बयां नहीं किया जा सकता। साथ रहने से जिंदगी आसान हो जाती है। हम भाइयों के साथ परिवार की महिलाएं और बच्चे भी एक हैं।

ये हैं परिवार में

1. राकेश सिंह

पत्नी- साधना सिंह

बेटा- ऋषि सिंह

बेटी- गुडि़या

2. दिनेश सिंह

पत्नी- शोभना सिंह

बेटा- मयंक सिंह

बेटी- नैंसी सिंह

3. राजेश सिंह

पत्नी- रूमा सिंह

बेटा- उत्कर्ष सिसोदिया

बेटी- उर्विका सिंह

4. मुकेश सिंह

पत्नी- चित्रा सिंह

बेटा- प्रांजल सिंह