lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को एक और करारा झटका दिया है। राजधानी से कांग्रेस की मेयर पद की प्रत्याशी प्रेमा अवस्थी ने बुधवार को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। प्रेमा अवस्थी पूर्व कांग्रेस विधायक स्वर्गीय सुरेंद्र नाथ अवस्थी उर्फ पुत्तू अवस्थी की पत्नी हैं। पुत्तू अवस्थी को राजनाथ सिंह का बेहद करीबी माना जाता है। वर्ष 2000 में राजनाथ सिंह के यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद पुत्तू अवस्थी ने हैदरगढ़ सीट खाली कर दी थी जिसके बाद राजनाथ इस सीट से जीत दर्ज करके विधानसभा के सदस्य बने थे। प्रेमा अवस्थी को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुघांशु त्रिवेदी ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण करायी है।
एक्शन में चुनाव आयोग, मुकदमे न बताने वाले प्रत्याशियों पर कसेगा शिकंजा
राहुल के नेतृत्व पर सवाल

भाजपा प्रवक्ता सुघांशु त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस अपनी हैसियत और गठबंधन जमीन बचाने के लिए चुनाव मैदान मे है। सरकार बनाने के लिए सिर्फ भाजपा ही लड़ रही है। प्रियंका का आना राहुल की विफलता की स्वीकारोक्ति है। शत्रुघन सिन्हा कांग्रेस के टिकट पर लखनऊ से चुनाव लड़ रहे हैं और लखनऊ में आकर उन्हें पीएम मटेरियल अखिलेश यादव में दिखने लगा। अभी तक गठबंधन सहयोगी ही राहुल की नेतृत्व क्षमता पर प्रश्नचिन्ह लगा रहे थे, लेकिन अब तो कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी ने ही उनके नेतृत्व पर सवालिया निशान लगा दिया है। वहीं अखिलेश यादव कहते हैं कि यूपी से ही प्रधानमंत्री होगा। मैं उन्हें आश्वस्त करता हूं कि यूपी से ही पीएम है और यूपी से वही पीएम रहेंगे। उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनाव में भाजपा की सीटें 300 के पार पहुंचेगी। तीन चरण का मतदान होने के बाद तीनों दलों के हौसले पस्त होते हुए दिख रहे है।