- बरेली लॉबी की पहली लोको पायलट नीता ने 70 की स्पीड से दौड़ाई मालगाड़ी

- बरेली जंक्शन से 12:34 पर मुरादाबाद के लिए हुई रवाना

BAREILLY:

झांसी की बेटी नीता मुन्नालाल बरेली से मुरादाबाद के लिए सैटरडे दोपहर 12:34 बजे ट्रेन लेकर निकलीं. इसी के साथ ही वह मुरादाबाद मंडल की वह पहली महिला लोको पायलट बन गई. बरेली जंक्शन के प्लेटफार्म नम्बर 2 पर खड़ी मालगाड़ी की लोको पायलट की सीट पर जब नीता बैठीं तो रेलवे ऑफिसर और उनके पति सुशील कुमार के मन में खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

70 की स्पीड में दौड़ाई ट्रेन

अप एमटी वीसीएन लोको नम्बर 706633 को नीता मुन्नालाल बरेली जंक्शन से मुरादाबाद तक ले गई. 12:34 पर मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाने के बाद नीता ने अपनी काबिलियत को दिखाया. बरेली से मुरादाबाद तक उन्होंने 70 किमी प्रति घंटे की स्पीड में मालगाड़ी को दौड़ाया. 3:10 बजे मुरादाबाद पहुंच गईं. नीता के साथ सहायक लोको पायलट राहुल रावत को भेजा गया. पहले सहायक लोको पायलट प्रीती रावत को भेजा जाना था, लेकिन मुरादाबाद मंडल के सीनियर डीसीएम एके सिंघल ने राहुल रावत को भेजने का फैसला किया. क्योंकि, नीता का यह पहला मौका था.

7 वर्ष पहले हुई थी नीता की शादी

नीता पिछले एक वर्ष से ट्रेनिंग ले रही थी, जिसमें मुख्य लोको निरीक्षक मोहम्मद अकरम और चीफ क्रू कंट्रोलर आरके गुप्ता ने नीता ट्रेंड किया. नीता के पति सुशील कुमार जो कि एनईआर इज्जतनगर मंडल में लोको पायलट हैं. उन्होंने नीता की खूब हौंसलाआफजाई की. नीता के अंदर बैठे डर को बाहर निकाला. नीता और सुशील की 7 वर्ष पहले शादी हुई थी. इनका अक्ष आर्य नाम का एक बेटा भी है. 8 वर्ष पहले नीता को रेलवे में नौकरी मिली थी.

तीन और लोको पायलट बनने को तैयार

मुरादाबाद मंडल नॉर्दर्न रेलवे के बरेली लॉबी में तीन और महिला सहायक लोको पायलट हैं, जो कि आने वाले कुछ महीनों में लोको पायलट बनकर ट्रेन और मालगाड़ी दौड़ाने की ट्रेनिंग ले रही हैं. चीफ क्रू कंट्रोलर आरके गुप्ता ने बताया कि बरेली लॉबी में प्रीती रावत, रिंकू वर्मा और प्रियंका मौर्या सहायक लोको पायलट के पद पर हैं.