जमशेदपुर : कल 12 मई को होने वाले मतदान को शांति पूर्वक संपन्न कराने के लिए सुरक्षा का भारी बंदोबस्त किया गया है। चुनाव के सुरक्षा की जिम्मेवारी सीआरपीएफ, एसएसबी, जैप, छत्तीसगढ़ आम्स फोर्स के जिम्मे रहेगी। चूंकि जमशेदपुर लोकसभा क्षेत्र का कुछ इलाका नक्सल प्रभावित है। इसलिए बाहर से आए पुलिस अधिकारियों के साथ जमशेदपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक अनूप बिरथरे ने बैठक की। बैठक में एसएसपी अनूप बिरथरे, सीआरपीएफ 193 बटालियन, सीआरपीएफ 247 बटालियन के कमांडेंट, एसएसबी 744, एसएसबी 722, एसएसबी 723, जैप, आईआरबी, कोबरा बटालियन, छत्तिसगढ़ आ‌र्म्स फोर्स के अधिकारी के अलावा जमशेदपुर के एएसपी अभियान (नक्सल) प्रणव आनंद झा शामिल हुए।

बैठक में उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए जमशेदपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक अनूप बिरथरे ने बताया कि चुनाव को हर हाल में शांति पूर्वक संपन्न कराना है। इसके लिए उन्हें जमशेदपुर लोकसभा की भौगोलिक स्थिति के बारे में जानकारी दी। जमशेदपुर में सक्रिय नक्सली संगठन, उसके सदस्य, उसके स्लीपर सेल्स आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। एसएसपी ने बताया कि नक्सल इलाके में किस तरह इवीएम मशीन को ले जाना है और कैसे सुरक्षित लेकर आना है, इसके बारे में जानकारी दी गयी।

नक्सली सक्रियता की भी दी गयी जानकारी

एसएसपी अनूप बिरथरे ने अधिकारियों को बताया कि कुछ दिनों पूर्व पड़ोसी जिले में नक्सलियों ने सरायकेला-खरसावां जिले के खरसावां में आईडी विस्फोट, चौका, चांडिल में पोस्टरबाजी की घटना हुई है। यही कारण है कि जमशेदपुर लोकसभा क्षेत्र के एमजीएम, घाटशिला, गालुडीह, पटमदा, बोड़ाम, चाकुलिया थाना क्षेत्र में ही सर्वाधिक नक्सल प्रभावित बूथ है। मतदान के दौरान नक्सली जिले के कुछ इलाकों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि चुनाव ड्यूटी में शामिल पुलिस जवान, अर्ध सैनिक बल के जवानों को नक्सल क्षेत्र के बूथों व कलस्टर तक कैसे जाना है, कहीं कोई घटना की सूचना मिलने पर किस तरह जाना है, आईडी ब्लास्ट से बचाव कैसे किया जाए आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। एसएसपी ने स्पष्ट किया कि नक्सलियों को उसकी मांद से नहीं निकलने दी जाएगी बाहर, यदि बाहर निकलने की कोशिश करेंगे तो मारे जाएंगे।

बंगाल बार्डर की ओर रहेंगे कोबरा व जगुआर के जवान

एसएसपी अनूप बिरथने ने बताया कि बंगाल बार्डर की ओर से जिले में कोई नक्सली या अन्य असमाजिक तत्व प्रवेश न करें। इसके लिए ऐसे इलाकों में कोबरा व जगुआर के जवानों को सर्चिग अभियान की जिम्मेवारी दी गयी है। एसएसपी ने बताया कि शहरी क्षेत्र के बूथों पर 10 मई को जिला पुलिस व दूसरे जिले से आए 5000 पुलिस के जवानों को तैनात किए जाएंगे।

हर भवन पर दूरबीन के साथ मौजूद रहेंगे जवान

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर संवेदनशील बूथों के अलावा उसके आसपास के प्रत्येक बिल्डिंग पर पुलिस दूरबीन के साथ मौजूद रहेगी। एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया कि पुलिस दूर से असमाजिक तत्वों पर नजर रख सकेगी और समय रहते कार्रवाई कर सकेगी।

शहर में 24 घंटे चलेगा सर्चिग अभियान

शहरी क्षेत्र में हर थाना प्रभारी व संबंधित डीएसपी को 24 घंटे तक जांच शुरू कर देने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि मतदान के 72 घंटा पूर्व से यह सघन अभियान चलाना है। इसके लिए संवेदनशील इलाके में मानगो, आजादनगर, उलीडीह, एमजीएम थाना क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया जा रहा है ताकि आम जनता भयमुक्त होकर मतदान कर सकें।