RANCHI: लोकसभा इलेक्शन का रिजल्ट जानने के लिए सुबह से ही लोगों में उत्साह दिखा। अहले सुबह ही लोगों ने अपने काम निपटा लिए और टीवी से चिपक गए। काउंटिंग शुरू होने के साथ ही जब रुझान आने शुरू हुए तो लोग थोड़े असमंजस थे। इस बीच राजधानी की सड़कों पर सन्नाटा पसर गया। आम दिनों में जहां सुबह दस बजे चौक-चौराहों पर काफी भीड़ होती थी। वहां आज गिनती की गाडि़यां देखने को मिलीं। वहीं रोड किनारे दुकान और प्रतिष्ठानों में भी मोबाइल पर रिजल्ट जानने की होड़ लगी रही। इतना ही नहीं, देर शाम तक सिटी में जीतने वाले कैंडिडेट्स और उन्हें मिलने वाले वोट के बारे में जानकारी जुटाते रहे।

डॉक्टरों में रिजल्ट जानने की बेताबी

हॉस्पिटल में मरीजों का इलाज करने के दौरान जब भी डॉक्टरों को ब्रेक मिला वे सीधे डॉक्टर्स चैंबर में लगे टीवी के पास पहुंच गए। वहीं बीजेपी को बढ़त मिलता देख उनका भी उत्साह बढ़ता जा रहा था। ऐसे में मरीजों का इलाज करते हुए भी वह स्टाफ्स से रिजल्ट की अपडेट ले रहे थे। इसके बाद जब ड्यूटी खत्म हुई तो वे लोग स्थिर होकर टीवी से चिपक गए।

सरकारी स्टाफ्स भी मोबाइल पर

काउंटिंग को लेकर सरकारी आफिसों में भी स्टाफ्स नहीं के बराबर दिखे। वहीं अगर स्टाफ्स ड्यूटी पर तैनात भी थे तो वे मोबाइल पर रिजल्ट जानने में लगे रहे। सुबह से शाम तक बस लोगों की जुबान पर यहीं था कि इस बार किसकी सरकार। लेकिन जब बीजेपी के कैंडिडेट्स के वोट बढ़ने लगे तो कुछ-कुछ रिजल्ट साफ होने लगा। हालांकि स्टाफ्स को भी इससे थोड़ी राहत मिली। वहीं रांची की सीट को लेकर आधे दिन तक लोग असमंजस में थे। पर धीरे-धीरे बीजेपी की बढ़त जारी रही और वोट का अंतर काफी हो गया।

चौक-चौराहों पर नहीं थी रिजल्ट देखने की व्यवस्था

काउंटिंग के दिन प्रशासन की ओर से चौक-चौराहों पर रिजल्ट देखने की व्यवस्था की जाती थी। लेकिन इस बार ऐसी कोई व्यवस्था नहीं की गई थी। जिससे कि मार्केट में निकले लोगों को रिजल्ट की जानकारी नहीं मिल सकी। हालांकि लोग अपने मोबाइल से पल-पल काउंटिंग की जानकारी लेते दिखे। वहीं कई जगहों पर तो लोग बस यहीं चर्चा कर रहे थे कि इस बार भी बीजेपी की सरकार बनेगी।

काउंटिंग को लेकर अलर्ट रहा प्रशासन

सिटी के चौक चौराहों पर काउंटिंग को लेकर प्रशासन अलर्ट था। ऐसे में किसी भी तरह की अनहोनी से निपटने के लिए पुलिस के जवानों को तैनात किया गया था। वहीं फायर ब्रिगेड को भी तैयार रखा गया था। ताकि भीड़ बेकाबू हो जाए तो उन्हें कंट्रोल किया जा सके। लेकिन शाम तक सिटी में कहीं भी कोई अप्रिय घटना नहीं हुई।