-गया, औरंगाबाद, नवादा और जमुई लोकसभा क्षेत्र के लिए 7486 मतदान केंद्रों पर 11 को पड़ेंगे वोट

-पहले चरण में 44 उम्मीदवारों के भाग्यविधाता बनेंगे 70.37 लाख मतदाता

PATNA : बिहार में लोकसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार मंगलवार की शाम थम जाएगा। पहले चरण में गया, औरंगाबाद, नवादा और जमुई लोकसभा सीटों पर 11 अप्रैल को मतदान होना है। मंगलवार को चुनाव प्रचार थमने से पहले प्रत्याशियों के साथ सियासी सूरमाओं ने अपने-अपने दल का झंडा बुलंद करने में ताकत झोक दी है। पहले चरण के चारों सीटों पर एनडीए और यूपीए के बीच आमने-सामने का मुकाबला है।

शाम पांच बजे तक ही प्रचार

निर्वाचन आयोग के निर्देश पर सभी प्रत्याशियों व उनके प्रचारकों द्वारा नौ अप्रैल की शाम पांच बजे तक ही चुनाव प्रचार किया जाएगा। इस अवधि के बाद चुनाव प्रचार करने पर उसे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा। प्रत्याशी व उसके प्रचारकों के विरुद्ध लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धाराओं में कार्रवाई की जाएगी। निर्वाचन आयोग के निर्देशों के तहत मतदान तिथि में मतदान की समाप्ति के समय से 48 घंटे पूर्व प्रचार-प्रसार नहीं किया जा सकता। इसके चलते मंगलवार शाम तक ही प्रचार होगा। आयोग ने स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण और निर्विघ्न चुनाव संपन्न कराने के लिए कमर कस ली है। मतदाताओं के लिए वोट देने की सुविधा के उद्देश्य से चुनाव वाले क्षेत्रों में 11 अप्रैल को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।

7486 बूथ पर डालेंगे वोट

चार लोकसभा सीटों पर पहले चरण के चुनाव में 44 उम्मीदवारों के लिए 70.37 लाख मतदाता भाग्यविधाता बनेंगे। घोर नक्सल प्रभावित औरंगाबाद में नौ, गया में 13, नवादा में 13 और जमुई में नौ यानी कुल 44 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। चार संसदीय क्षेत्रों में कुल मतदाताओं की संख्या 70 लाख 37 हजार 966 है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 36 लाख 83 हजार 885 है जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 33 लाख 53 हजार 809 है। वहीं थर्ड जेंडर की संख्या 272 है। पहले चरण में किस्मत आजमाने वाले दिग्गजों में गया सीट पर राजग के विजय मांझी और महागठबंधन उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी हैं। जबकि औरंगाबाद में निवर्तमान सांसद व भाजपा प्रत्याशी सुशील सिंह और महागठबंधन के उम्मीदवार व हम के प्रत्याशी उपेंद्र प्रसाद हैं। नवादा से लोजपा के चंदन कुमार मैदान में हैं।