पेट्रोल, डीजल व सीएनजी के अलावा प्रतिदिन के हिसाब से निर्धारित पूर्व किराये में भी इजाफा

किराया गाड़ी की सीट के हिसाब से होगा निर्धारित, वाहन मालिकों से गाड़ी की कंडीशन व एवरेज का मांगा ब्योरा

MEERUT : लोकसभा चुनाव में अधिकारियों, कर्मचारियों और फोर्स के आवागमन के लिए कमर्शियल वाहनों का तेजी से परिवहन विभाग द्वारा अधिग्रहण किया जा रहा है। चुनाव ड्यूटी के लिए अधिक से अधिक संख्या में ट्रांसपोर्टर्स, स्कूलों और कॉलेजों समेत अन्य वाहन मालिक अपने वाहन दें इसके लिए परिवहन विभाग ने किराए को इस 10 गुना कर दिया है।


प्रति किलोमीटर का हिसाब

चुनाव आयोग इस बार प्रति दिन किराये के साथ ही बजाए प्रति किमी के हिसाब से भुगतान करेगा। पेट्रोल, डीजल व सीएनजी के अलावा प्रतिदिन के हिसाब से निर्धारित पूर्व किराये में भी इस बार चुनाव आयोग द्वारा इजाफा किया गया है। इसके अनुसार प्रति दिन किराया भी 10 गुना कर दिया जाएगा। यह किराया गाड़ी की सीट के हिसाब से निर्धारित किया जाता है। ऐसे में गाड़ी की कंडीशन व एवरेज का ब्योरा वाहन मालिकों से मांगा गया है।


अधिग्रहण में जुटा विभाग

चुनाव के लिए परिवहन विभाग प्राइवेट बस, स्कूल बस, वैन, जीप, कार, टैक्सी आदि के अधिगृहण में जुटा हुआ है। इन वाहनों को चुनाव के दौरान आला अधिकारियों, कर्मचारियों और चुनाव सामग्री को लाने व ले जाने के लिए प्रयोग किया जाना है।

वाहनों के किराये में इस बार इजाफा किया गया है ताकि अधिक से अधिक संख्या में वाहन मालिक अपने वाहन को चुनाव में ड्यूटी लिए किराये पर दें।

ओपी सिंह, आरटीओ प्रवर्तन